Home Lucknow News Case Of Illegal Property Of Bukkal Nawab

राहुल गांधी के इंटरव्यू पर बीजेपी ने चुनाव आयोग से की शिकायत

राजस्थान: भारत-ब्रिटेन की सेना ने बीकानेर में किया संयुक्त युद्धाभ्यास

PM मोदी कल मुंबई में नेवी की पनडुब्बी INS कावेरी को देश को समर्पित करेंगे

पंजाब: STF ने लुधियाना से 3 ड्रग तस्करों को किया गिरफ्तार

पटना: मगध महिला कॉलेज में जींस, मोबाइल और पटियाला ड्रेस पर बैन

अगले सप्‍ताह कुर्क होगी बुक्‍कल की संपत्ति

Lucknow | 23-Sep-2017 06:12:51 PM | Posted by - Admin

  • बुक्कल नवाब से होनी है 6.94 करोड़ की रिकवरी
  • जियामऊ में फर्जी जमीन के अधिग्रहण का मामला

   
case of illegal property of Bukkal Nawab

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

भाजपा नेता बुक्‍कल नवाब ने जियामऊ में जिस 3.313 हेक्टेयर जमीन को फर्जी तरीके से अपना बताकर 6.99  करोड़ रुपये का मुआवजा लिया था उस मामले में अगले सप्‍ताह से उनकी संपत्ति को कुर्क करने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। एडीएम प्रशासन श्री प्रकाश गुप्‍त ने बताया कि रुपये की वसूली की तैयारी की जा रही है। इसके लिए तहसीलदार सदर को पत्राचार करते हुए आगे की कार्रवाई के लिए कहा गया है। इस तरह दो अक्‍टूबर के बाद बुक्‍कल के खिलाफ कुर्की सहित अन्‍य कार्रवाई की जाएगी।

भूमि आध्‍याप्ति आरके तिवारी ने मुआवजे के लिए एक माह का समय दिया था। यह समय पूरा हो चुका तो सदर से उन्‍हें अतिरिक्‍त समय दिया गया। प्रशासनिक अधिकारी के अनुसार कुर्की की प्रक्रिया शुरू होने से पहले धनराशि को जमा करने का पूरा मौका दिया जाता है। इसलिए अमीन को लगातार उनके पते पर भेजा भी जा रहा है। इसके बाद भी यदि फर्जी तरीके से ली गई रकम जमा नहीं की जाती है तो बैंक खाते से लेकर सभी प्रकार की चल और अचल संपत्तियां तक सील कर दी जाएगी। इसके बाद कुर्की करते हुए बकाया धनराशि को वसूला जाएगा। फिलहाल बुक्‍कल को दी गई यह समयावधि एक अक्‍टूबर तक है। इसके बाद दो अक्‍टूबर से कुर्की की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। 

उल्‍लेखनीय है कि एलडीए के भूमि अध्याप्ति आरके तिवारी ने जांच के दौरान पाया था कि 1980 से जियामऊ के राजस्व दस्तावेज में बुक्कल नवाब के नाम से कई बीघा जमीन दर्ज थी। इस दौरान 1993 से 2010 के बीच यहां की जमीन को सिंचाई विभाग, एलडीए जैसे कुछ विभागों दी गई थी। इस जमीन अधिग्रहण से उन्‍हें 10 करोड़ 58 लाख का मुआवजा मिला था। हालांकि जब इसमें आपत्तियां आई तो मामले की जांच करवाई गई। इस दौरान जमीन के 13 नंबरों में सिर्फ दो नंबरों पर ही बुक्कल का दावा मिला। जबकि 3.313 हेक्टेअर जमीन से उनका कोई लेना देना ही नहीं था। इसके बावजूद भी उन्‍होंने तत्‍कालीन समय में अपने पद की आड़ में मुआवजे ले लिया। जांच के बाद एलडीए ने उन्‍हें रिकवरी नोटिस जारी किया था।

“बुक्‍कल नवाब से रिकवरी के लिए राजस्‍व वसूली की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। मेरे पास जो फाइल आई थी उसे सदर तहसीलदार को भेज दिया है। नियमानुसार दूसरे पक्ष को रकम जमा करने के लिए पूरा मौका दिया जाता है। इसके तय समय बाद बुक्‍कल के खिलाफ कुर्की सहित सभी तरह की कार्रवाई की जाएगी।”

श्रीप्रकाश गुप्‍त

एडीएम, प्रशासन

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news




sex education news