Priyanka Chopra Shares Her Experience of Health Issues

दि राइजिंग न्‍यूज

इंटरनेशनल डेस्‍क।

 

एक भारतीय अमेरिकी व्यापारी ने उभरते हुए उद्यमियों की मदद के लिए शिकागो यूनिवर्सिटी को 32.5 करोड़ रुपये (पांच मिलियन डॉलर) का अनुदान दिया है। 79 वर्षीय रतन एल खोसा ने पोलस्काई केंद्र में छात्र उद्यमी कार्यक्रम को लॉन्च करने के बाद अनुदान की राशि दान की।

उन्होंने कहा, जिस दिन मैंने इस नए कार्यक्रम के लिए चेक लिखा था, मैं बैठ गया, मैंने आंखों को बंद कर दिया, और इस देश में अपने पहले दिन के बारे में सोचा और इस पर विचार किया कि उस समय मैं कितना छोटा था। उन्होंने आगे कहा कि मैं इस बात का आभारी हूं कि मैं उद्योग जगत में कदम रखने वाली अगली पीढ़ी की सहायता करने में सक्षम हो पाया हूं, इसके लिए मैं आपका अत्यंत आभारी हूं।

रतन एल खोसा 70 के दशक में अमेरिका आए थे। उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ मेरिलैंड से रिसर्च फेलोशिप किया। जब उन्होंने यूनिवर्सिटी जॉइन की उस समय उनकी जेब में केवल तीन यूएसडी डॉलर थे। इसके बाद खोसा ने अपनी कंपनी "एमसिस्को" की शुरुआत साल 1981 में अपने घर के बेसमेंट से की। इसके करीब चार दशक खोसा ने अपने व्यापार में बहुत मुनाफा कमाया। खोसा ने आगे कहा कि मैं अपने स्वंय के अनुभवों से बता सकता हूं कि जिंदगी के किसी न किसी मोड़ पर हर किसी को कभी न कभी मदद की आवश्यकता होती है। कोई भी अकेले सफलता प्राप्त नहीं करता है।

उन्होंने आगे कहा कि जब 80 फीसदी से भी अधिक कंपनियां फेल गो जाती हैं बावजूद इसके उनमें अच्छा खासा फंड किया जाता है। तो ऐसे में स्टार्टअप सफलता के लिए पैसे से बढ़कर और भी बहुत कुछ है। उन्होंने आगे कहा कि मैं केवल इस प्रोग्राम के लिए पैसे नहीं दे रहा हूं बल्कि मैं उद्योग जगत में आने वाली पीढ़ी को एक गाइड, एक मेंटर के तौर पर दे रहा हूं।

इसी बात पर शिकागो के डीन माधव रंजन का कहना है कि खोसा का नेतृत्व, सफलता और उदारता आने वाली उद्यम पीढ़ी के लिए प्रेरणादायक है। 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement