Home Top News After Cracker Ban In Delhi NCR Shopkeepers Are Home Delivery Of Firecrackers

चेन्नई: पत्रकारों ने बीजेपी कार्यालय के बाहर किया विरोध प्रदर्शन

मुंबई: ब्रीच कैंडी अस्पताल के पास एक दुकान में लगी आग

कर्नाटक के गृहमंत्री रामालिंगा रेड्डी ने किया नामांकन दाखिल

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने हथियारों के साथ 3 लोगों को किया गिरफ्तार

11.71 अंक गिरकर 34415 पर बंद हुआ सेंसेक्स, निफ्टी 10564 पर बंद

दिल्ली-NCR: पुलिस लगाती रही गश्त, फिर भी पटाखों की होम डिलीवरी

Home | 19-Oct-2017 11:40:28 | Posted by - Admin
   
After Cracker Ban in Delhi NCR Shopkeepers Are Home Delivery Of Firecrackers

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

प्रदुषण के मद्देनजर सुप्रीम कोर्ट ने दिल्‍ली–एनसीआर में पटाखों पर बैन लगा दिया था, लेकिन प्रतिबंध के बावजूद यहां पटाखों की बिक्री जारी है। दादरी में पुलिस बाजार में सादी वर्दी में गश्त करती रही है और पटाखों का ऑर्डर मिलने पर दुकानदार होम डिलीवरी करते रहे।

होम डिलीवरी उन्हीं को की गई, जिन पर उनको भरोसा है और जो जान-पहचान वाले लोग हैं। सुप्रीम कोर्ट द्वारा प्रदूषण को ध्यान में रखते हुए करीब एक सप्ताह पहले ही दिल्ली-एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

 

 

बाजार में पटाखों की बिक्री न हो, इसके लिए जिला प्रशासन की ओर से पुलिस सतर्क है। पुलिस वर्दी और सादी वर्दी में बाजार में गश्त कर रही है। पुलिस के सतर्क रहने के बावजूद दुकानदारों ने खुले में पटाखे न बेचने का नया तरीका निकाला है।

 

मंगलवार से दुकानदार पटाखों की होम डिलीवरी करने में लगे हैं। जिन घरों में पटाखा देने पहुंचे हैं, उन्होंने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि पटाखे घर पर ही दिए जा रहे हैं। तीन विक्रेता बाइक से होम डिलीवरी कर पटाखे बेचने का काम कर रहे हैं।

 

 

पटाखे लेने जब ग्राहक जाता है तो उनका मोबाइल नंबर और पता पूछकर घर पर पटाखे पहुंचाने और सही रेट लगाने की बात कही जा रही है। यह सुनकर ग्राहक अपना मोबाइल नंबर आराम से दे देता है। बाद में संपर्क करके बताए गए पते पर पटाखे पहुंचा दिए जाते हैं। पटाखों विक्रेताओं ने अपने अधिकतर स्टॉक को खत्म कर दिया है।     

 

पुलिस क्षेत्राधिकारी निशांक शर्मा का कहना है कि पटाखे बेचने वालों पर कड़ी नजर रखी गई है और सिविल वर्दी में भी पुलिस बाजार में गश्त कर रही है। पटाखा बेचते हुए अगर कोई मिलता है तो कठोर कार्रवाई की जाएगी।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll

Merchants-Views-on-Yogi-Government-One-Year-Completion




Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news