Sapna Chaudhary Joins Congress

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

दबंगों द्वारा मकान पर कब्जा किए जाने व प्रशासनिक अधिकारियों की हीला-हवाली के चलते पीड़ित दिव्यांग ने कलेक्ट्रेट परिसर में अपने ऊपर पेट्रोल डाल आत्महत्या का प्रयास किया। इस दौरान कलेक्ट्रट परिसर में अफरा-तफरी मच गई। हालांकि, वक्‍त रहते वहां पर तैनात सुरक्षा कर्मियों ने  पीड़ित से पेट्रोल की बोतल छीन ली और उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया।

 

 

पीड़ित दिव्यांग ने आरोप लगाया है कि शहर के प्रशासनिक अफसर उसकी शिकायत की ओर ध्यान नहीं दे रहे थे, जिसको लेकर उसने आत्महत्या का प्रयास किया है।

पढ़िए पूरा मामला

बर्रा थाने क्षेत्र के वरुण विहार निवासी दिव्यांग सुबोध कटियार का प्रॉपर्टी को लेकर मकान मालिक से विवाद चल रहा था। परशुराम और उसके साथी रोहित, योगेंद्र और विजय जोकि मकान मालिक हैं, उन्होंने पीड़ित की दुकान पर कब्जा कर घर का सामान लूट लिया। इस घटना को लेकर पीड़ित ने एसपी साउथ और डीएम कार्यालय में इसकी शिकायत भी की थी, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। जिसके चलते दिव्यांग सुबोध बुधवार को अपने साथ पेट्रोल लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचा और आत्मदाह का प्रयास किया।  

पीड़ित सुबोध ने बताया कि मेरे मकान मालिकों ने दबंगई दिखाते हुए मेरी दुकान और घर का सामान लूट लिया है। चौकी इंचार्ज रजनीश यादव की मिलीभगत से इन लोगों पर कोई कार्यवाई नहीं हुई। जब बड़े अधिकारियों से इसकी शिकायत की तो पुलिस ने साधारण धाराएं  परशुराम और उसके साथियों पर लगा दी और मुझे कोई इंसाफ नहीं मिला।

 

 

क्‍या बोले पुलिस अधिकारी?

वहीं, सिटी मजिस्ट्रेट वैभव मिश्रा ने बताया कि किरायेदारी को लेकर मकान मालिक से इसका विवाद है। इस मामले में थाने को निर्देशित कर दिया गया है। मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ आवश्यक कार्यवाई की जाएगी।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement