Satyamev Jayate Box Office Collection In Weekends

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

कोहना क्षेत्र के अंतर्गत बीते शनिवार को हुई गंगा में डूबने से युवक की मौत के मामले में अभी 30 घण्टे भी नहीं हुए होंगे कि रविवार को इसी भैरव घाट पर फिर से तीन लड़के डूब गए। आनन-फानन में लोगों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस ने गोतखोरों की मदद से कड़ी मशक्कत करते हुए तीनों डूबे हुए युवकों को निकाल लिया, लेकिन तब तक बहुत देर हो गई और उन तीनों की मौत हो गई।

भैरव घाट बना मौत का घाट

लगता है ये भैरव गंगा नहाने वालों के लिए मौत का घाट बन गया है। अभी 30 घंटे भी नहीं बीत पाए थे कि आज फिर इस घाट पर तीन लड़कों की गंगा में डूबने से मौत हो गई। बताया जा रहा है रविवार दोपहर घंटाघर कलक्टरगंज सीपीसीसी माल गोदाम के रहने वाले सात लड़के गंगा नहाने आये थे, जिसमें से तीन लड़के गंगा नदी में खेलते हुए उसकी धारा में बहकर डूब गए। इससे पहले कल शाम को भी हर्षित नाम का एक लड़का गंगा में डूब चुका था, जिसका शव रात में निकाल ली गई थी।

 

 

आज डूबने वाले तीनों लड़के छोटू, छुन्नू और संतोष आपस में गहरे दोस्त थे। जिनकी उम्र तकरीबन 15-16 वर्ष बताई जा रही है। इनको बाकी साथियों ने बचाने की कोशिश की, लेकिन वह गहरे पानी में नहीं जा सके। पानी में लड़कों के डूबने की सूचना पर घाट में मौजूद लोग दौड़ पड़े और वहां पहुंचकर पुलिस को इसकी सूचना दी। कड़ी मशक्कत के बाद तीनों डूबे लड़कों के शव को गोताखोरों ने ढूंढकर निकाल लिया।

डिप्टी एसपी मनोज गुप्ता ने बताया कि तीन लड़कों के डूबने की सूचना मिली थी। सात लड़के सीपीसी गोदाम के थे, जो यहां नहाने आये थे। पानी में खेल रहे थे। अचानक भंवर में फंसने से मौजूद तीन लड़के डूब गए। जिसके बाद गोताखोर की मदद से उनको निकाल लिया है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll