Sunny Deol FILM Bhaiyyaji Superhit Teaser Release

दि राइजिंग न्यूज़

कानपुर।

रविवार को क्षेत्रीय विकास सेवा समिति के तत्वाधान में फूलबाग स्थित गांधी प्रतिमा के नीचे सैकड़ो की संख्या में भगवतदास घाट और गुप्तार घाट के बस्तीवासियों ने जमीन खाली कराए जाने को लेकर जमकर धरना प्रदर्शन किया। उनकी मांग है कि आज़ादी के पहले से हमारी कई पीढ़ियों की यादें जुड़ी हुई हैं और अब हम अपने बच्चों के साथ रह रहे है लेकिन सेना जबरन इसे अपनी जमीन बताकर हम सभी को हटाने का प्रयास में जुटी हुई है।

 

गुप्तार घाट व भगवतदास घाट मलिन बस्ती पर गिरी गाज

शहर के गुप्तार घाट और भगवतदास घाट मलिन बस्ती में रहने वालों को सेना की ओर से पूर्व मे एक नोटिस जारी किया गया था कि जिस भूमि पर यह बस्तियां बसी हुई हैं वह भूमि सेना की है और सैन्य कार्यों के लिए आरक्षित है। इसलिए इस भूमि को तत्काल प्रभाव से खाली कर दिया जाए। सेना का नोटिस मिलते ही इन बस्तियों में रह रहे हजारों परिवारों के सामने जीवन यापन का संकट उतपन्न हो गया और इन लोगों ने इस नोटिस के संदर्भ में जिला प्रशासन के साथ-साथ प्रदेश व केंद्र की सरकार को भी अवगत कराया लेकिन लगभग चार माह बीत जाने के बाद भी कहीं से कोई संतोषजनक उत्तर न मिलने से यहां के लोगों में बेचैनी व्याप्त है।

आज रविवार के दिन इन मलिन बस्तियों के सैकड़ो परिवारों ने फूलबाग स्थित गांधी प्रतिमा में धरना दिया और नारे लगाए। इन लोगों का नेतृत्व कर रहे पवन वर्मा ने बताया कि हम लोगों के परिवार इन बस्तियों में आजादी के पहले से निवास कर रहे हैं। इन्हीं बस्तियों में हमारे दादा-परदादा रहे हैं। वर्मा ने बताया कि सेना द्वारा नोटिस मिलने के बाद हम लोगों का खाना पीना हराम हो गया है। रात दिन बस यही चिंता खाये जा रही है कि पता नहीं कब सेना की गाड़ियां रुकें और उनके मकानों को धराशाई कर दें। इस नोटिस को लेकर हम लोगों ने हर जगह गुहार लगाई है लेकिन कहीं सुनवाई नही हुई। अगर केंद्र व प्रदेश की सरकारों ने हस्तक्षेप नहीं किया तो मलिन बस्तियों में रहने वाले हज़ारो परिवारों के लोग आत्मदाह करने को मजबूर होंगे।

<iframe width="350" height="310" src="https://www.youtube.com/embed/E9HLz0ZnLP8" frameborder="0" allow="autoplay; encrypted-media" allowfullscreen></iframe>

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement