These Women Film Directors Refuse to work with Proven Offenders

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

शहर के सभी स्नातक कॉलेजों में सीटों की वृद्धि को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के कार्यकर्ताओं ने छात्रों के साथ मिलकर कानपुर यूनिवर्सिटी गेट पर प्रदर्शन किया। साथ ही छात्रों ने विश्वविद्यालय प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर सीट बढ़ाए जाने की मांग की। इस दौरान विवि के गेट पर तैनात सुरक्षाकर्मियों ने मेन गेट पर ताला बंद कर दिया जिससे छात्र आक्रोशित हो गए और ज़बरन अंदर घुसने की कोशिश करने लगे।

इस दौरान पुलिस ने उनको रोकने का प्रयास किया तो छात्र भिड़ गए। आक्रोशित छात्रों को पुलिस ने काबू करने का प्रयास किया लेकिन नहीं मानने पर हल्का बल प्रयोग कर छात्रों को वहां से भगा दिया। प्रदर्शन के दौरान कुछ छात्र बोतल में ज्वलनशील पदार्थ भी लाये हुए थे। गौरतलब है कि विवि की तरफ से पहले ही बीस परसेंट सीटों की बढ़ोत्तरी कर दी गयी है। इसके बावजूद विद्यार्थी परिषद् के छात्र और सीटों को बढ़ाने की मांग लगातार कर रहे है। इससे पहले डीएवी कॉलेज में छात्र ने पेट्रोल डालकर आत्मदाह की कोशिश भी की थी छात्रों की मांग को देखते हुए विवि प्रबंधन ने तिथि को आगे बढ़ाने का प्रयास किया। जिसको लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के लोगों ने साजिस समझी और शुक्रवार को विवि  के मेन गेट पर धरना प्रदर्शन करने लगे।

अखिल विद्यार्थी परिषद् के लोगों ने आरोप लगाया कि स्वावित्तपोषित कॉलेजों को लाभ पहुंचाने के लिए विवि ने यह कदम उठाया है। विवि की वाइस चांसलर नीलिमा गुप्ता छात्रो की बात सुनने को तैयार नही हैं जिसके बाद से विद्यालय परिषद् वा छात्रों का गुस्सा फूट पड़ा और वह सड़क जाम करने लगे जिसको लेकर पुलिस ने जब उनको समझाने का प्रयास किया तो छात्र आक्रोशित हो गए और पुलिस से हाथा पाई करने लगे। छात्रों को हटाने के लिए पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर छात्रों को खदेड़ दिया।

क्या कहना है छात्रों का?

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के महामंत्री रजत कटियार का कहना है कि कानपुर विश्वविद्यालय के कुलपति ने कॉलेजों की सीटों को बढ़ाने के लिए अगर कोई एक्शन नहीं लेगी तो हम लोग विश्वविद्यालय गेट पर आमरण अनशन करेंगे। उन्होंने आरोप लगाया है कि डीएवी कॉलेज में 800 सौ फॉर्म बांटे गए लेकिन सिर्फ 300 सौ सीटों पर एडमिशन लिया गया। ये छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। हम इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement