Deepika Padukone Turns As A Relative Of Arjun and Sonam After Marrying Ranveer Singh

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

गुरुवार को आइआइटी कानपुर के 51 वें दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शिरकत की। उनके साथ देश की प्रथम महिला श्रीमती सविता कोविंद भी समारोह में उपस्थित रहीं। साथ ही उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक, प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सतीश महाना भी कार्यक्रम में मौजूद रहे। कार्यक्रम में राष्‍ट्रपति ने छात्रों को सफलता के चार मंत्र भी दिए।


 

राष्ट्रपति द्वारा छात्रों को पांच प्रमुख दीक्षांत समारोह अवार्ड प्रदान किए गए, जिसमें सक्षम शर्मा (बीटेक सीएसई) को प्रेजिडेंट मेडल, कनुप्रिया अग्रवाल (बीएस, एमटेक) को गोल्ड मेडल, सिमरत सिंह (बीटेक इलेक्ट्रिक) को गोल्ड मेडल, श्रुति अग्रवाल (बीटेक सीएसई) को रतन स्वरूप मेमोरियल मेडल और अर्जक भट्टाचार्य (एमटेक मेटेरियल साइंस) को गोल्ड मेडल मिला।

 

 

 

 

कानपुर आइआइटी तकनीकी के मामले में काफी आगे

इस दौरान हाल में बैठे सभी छात्रों को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने संबोधित करते हुए कहा कि कानपुर आइआइटी तकनीकी के मामले में काफी आगे है, जिसका डंका सिंगापुर तक बजता है।

उन्‍होंने कहा, उद्योग को बढ़ावा देने में भी इस आइआइटी का विशेष योगदान है। दिन-प्रतिदिन इस आइआइटी से विकास हो रहा है। इस दौरान उन्होंने हाल में बैठे हुए छात्रों को सफलता के चार मंत्र भी दिए।

ये हैं सफलता के मंत्र-

1. गेट इंस्पायर्ड

2. बड़ा सोचिए

3. अनुशासन बनाए रखिए

4. संवेदनाओं को जिंदा रखिए be humble be sensible.

जिंदगी का सबसे बढ़िया क्षण

दीक्षांत समारोह को लेकर आइआइटी के छात्रों में समारोह को लेकर जबरदस्त उत्साह देखने को मिला। इस कार्यक्रम में भारतीयता को दर्शाते हुए छात्र देसी परिधान कुर्ता-पायजामा पहनकर सम्मिलित हुए। इस दौरान हर उपाधि के हिसाब से छात्रों ने अपने गले में अलग-अलग रंग की दुशालाएं डाल रखी थीं। छात्रों का कहना है कि यहां पांच साल बिताने के बाद जिस क्षण का इंतजार था आज वो पूरा हुआ। आज राष्ट्रपति आ रहे हैं। ये हमारे लिए सबसे बढ़िया पल है। कार्यक्रम में समस्त शैक्षिक पाठ्यक्रमों के विद्यार्थियों को सामूहिक रूप से उपाधियां प्रदान की गईं।

 

 

सुरक्षा के कड़े इंतजाम

राष्ट्रपति के आगमन होते ही परिसर के अंदर और बाहर कड़ी सुरक्षा के बीच कारों की चेकिंग की गई। हर तरफ जिला प्रशासन अपनी कमर कसे हुए है। बिना पास के किसी को भी अंदर नहीं जाने दिया जा रहा है। आइआइटी परिसर की सुरक्षा के मद्देनज़र बाहर जीटी रोड से लेकर चारों तरफ पैनी निगरानी रखी जा रही है।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement