Akshay Kumar Gold And John Abraham Satyameva Jayate Box Office Collection Day 2

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कौशल विकास योजना पूरे देश में लागू करने के साथ ही युवाओं से आव्हान किया था कि वह इस योजना का लाभ उठाएं और अपनी बेरोजगारी को दूर करें। मगर अब इस योजना की सच्चाई धीरे-धीरे सामने आती दिखाई दे रही है। शहर में कौशल विकास योजना के तहत केंद्र का संचालन करने वाली महिला सुरुचि त्रिवेदी ने इस योजना का पर्दाफाश करते हुए आरोप लगाया है कि उनके केंद्र के नाम पर छल किया गया है। जिसको लेकर महिला अकेले ही रविवार को राम आसरे पार्क में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गई।

केंद्र की संचालिका सुरुचि त्रिवेदी ने आरोप लगाते हुए बताया कि प्रधानमंत्री के कौशल विकास योजना के तहत सनराइज एजुकेशन एंड वेलफेयर सोसाइटी व स्वास्तिक कम्युनिटी सर्विस के द्वारा केंद्र का 16 अक्टूबर 2016 को एग्रीमेंट हुआ था, लेकिन कोई लक्ष्‍य नहीं दिया गया। वहीं, जब कंपनी से इस बाबत बात की तो उसने पल्ला झाड़ते हुए कहा कि सरकार द्वारा कोई लक्ष्‍य नहीं दिया जा रहा है। जिसके बाद मैंने इसकी शिकायत जनता दरबार में की, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। वहीं अपनी मांगों को लेकर पीएम कार्यालय में भी चक्कर लगाए जहां एनएसडीसी ने बताया कि कंपनी के ऊपर लीगल कार्रवाई करो।

थ्री स्‍टार भी दिया, लेकिन लक्ष्‍य नहीं

उन्‍होंने कहा कि सेंटर की जांच कर एनएसडीसी द्वारा रिपोर्ट दी गई और फीस भी जमा करवाई गई। साथ ही थ्री स्टार भी दिया गया, लेकिन लक्ष्‍य नहीं मिला। इसके बाद भी मैंने सेंटर किसी तरह चलाया, लेकिन अब जब कंपनी ही हाथ पीछे खींच ले तो कैसे सेंटर चलेगा और कैसे जीविका चलेगी।

इससे परेशान होकर महिला सेंटर संचालिका सुरुचि त्रिवेदी आज बड़े चौराहा स्थित राम आसरे पार्क में अपनी तीन मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गईं। सुरुचि ने कहा कि अगर मेरी मांगे पूरी न हुईं तो यहीं धरने पर जान दे दूंगी। जिसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी।

ये हैं तीन मांगें-

  • कंपनी ने जो धोखाधड़ी की है उस पर एकशन लेकर उसे बंद किया जाए।

  • सेंटर पर लगी लागत और जमा कराई गई फीस वापस को किया जाए।

  • सेंटर पर कोई कार्य दिया जाए, जिससे मेरी जीविका चल सके।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll