Avengers Endgame on Box Office

दि राइजिंग न्यूज़

कानपुर।

आतंकियों का ठिकाना बन चुके कानपुर को एक बार फिर एटीएस के सक्रिय कदम ने बचा लिया लेकिन शहर की पुलिस अभी भी अपने पुराने ढर्रे पर चल रही है। पुलिस का रवैया ढाक के तीन पात की तरह ही नज़र आ रहा है। एटीएस द्वारा चकेरी क्षेत्र से आतंकी के गिरफ्तार किए जाने और गणेश महोत्सव के दौरान गंभीर घटना को किये जाने का खुलासा करने के बाद भी शहर की पुलिस ने न तो गणेश पंडालों में सुरक्षा व्यवस्था की है और न ही आतंकियों के टारगेट में आये घण्टाघर के सिद्धिविनायक मंदिर में ही सुरक्षा की व्यवस्था की है।

प्रशासन केवल आश्वशन ही दे रहा

बीते गुरूवार को एटीएस की टीम ने चकेरी क्षेत्र के अहिरवां चकेरी मोड़ पर स्थित एक मकान से आतंकी की गिरफ्तारी की थी और बड़ा खुलासा करते हुए बताया था कि इस आतंकी की नज़र घण्टाघर स्थित सिद्धिविनायक मन्दिर और शहर के कई गणेश पंडालों पर थी। एटीएस के मुताबिक, शहर में धार्मिक कार्यक्रमों को आतंकियों द्वारा निशाना बनाया गया था। इतना सब कुछ होने के बाद भी शहर की पुलिस के कानों में जूं तक नहीं रेंगी। आतंकी के पास से मंदिर का वीडियो व फोटो मिलने के बाद भी पुलिस प्रशासन ने मंदिरों की सुरक्षा नहीं बढ़ाई और न ही उस मंदिर की सुरक्षा की ओर कोई भी ध्यान दिया।

 

सिद्धिविनायक मंदिर में चल रहे गणेश महोत्सव के आयोजन समिति प्रमुख दिनेश गुप्ता ने बताया कि मंदिर में आतंकी हमले की सूचना मिलने के बाद भी पुलिस प्रशासन ने न तो मन्दिर के आसपास पुलिसकर्मियों की तैनाती की है और न ही मेटल डिटेक्टर के साथ ही अन्य किसी तरह की कोई भी सुरक्षा व्यवस्था की। हमारी तरफ से मन्दिर के अंदर बाहर सीसीटीवी लगाए गए हैं। इस मन्दिर में रोजाना ही हजारों भक्त दूर दूर से बप्पा के दर्शन को आते हैं और बाबा से अपनी मन्नतें मांगते हैं। दिनेश गुप्ता ने कहा कि प्रशासन से बात की है लेकिन अभी सिर्फ आश्वशन ही मिला है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement