Nitin Gadkari Biopic Trailer Out

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

कानपुर में चार दिसंबर को एक व्यापारी के साथ ई-रिक्शा में हुई 3 लाख 50 हज़ार की टप्पेबाजी के मामले में खुद व्यापारी ने ही गिरोह का खुलासा कर डाला। इसके लिए पुलिस ने उस व्यापारी के साहस की तारीफ करते हुए प्रशस्ति पत्र देकर सम्‍मानित किया और साथ ही व्यापारी की मदद से पुलिस ने उन तीनों शातिर महिलाओं को भी गिरफ्तार किया।

पढ़िए पूरा मामला

आपको बताते चलें कि चार दिसंबर को बांदा निवासी राजबिन्दु गुप्ता अपनी पत्नी के साथ उसका इलाज कराने व व्यापार के सिलसिले में शहर आये हुए थे। जिसमें पत्नी को उन्होंने टाटमिल स्थित उतारकर अपनी पत्नी को इलाज के लिए भेज दिया और खुद व्यापार के लिए एक ई-रिक्शा पर अपने दो साथियों के साथ बैठ गए। इसी दरमियां उसी ई-रिक्शे पर तीन महिलाएं बैठ गईं और कुछ ही दूर पर इन्हें व्यापार के लिए जिस दुकान पर उतरना था वहां पहुंचने पर ही इनके बैग से साढ़े तीन लाख रुपये की टप्पेबाजी हो गयी।

आनन-फानन में व्यापारी कलक्टरगंज थाने पहुंचकर अपनी आपबीती बताई जहां उसकी पहले तो एफआइआर नहीं लिखी गयी, फिर भी व्यापारी ने हिम्मत नहीं हारी। अगले दिन सुबह ही व्‍यापारी स्टेशन के पास पहुंचा और ई-रिक्शा वाले को खोजा, जो महिलाओं को लेकर आया था। काफी देर बाद वह घंटाघर के पास दिखाई पड़ा। राज बिंदु ने उसे रिक्शे से उतारा और उसे कलक्टरगंज थाने ले गया। वहीं उसे लगा कि पुलिस कोई कार्यवाई नहीं कर रही, जिसके बाद खुद ही टाटमिल पहुंचकर वहां मौजूद पंचर वाले और रिक्शे वालों से उन महिलाओं के बारे में पूछा तो उसने बताया कि वह तीनों महिलाएं परमपुरवा की हैं।

व्यापारी ने दिन-रात एक कर टप्पेबाजी करने महिलाओं तक पहुंच गया और उनका बड़े ही बहादुरी से वीडियो बनाकर पुलिस को कार्रवाई करने को कहा। हद तो तब हो गयी कि इसके बाद भी कलक्टरगंज पुलिस ने कार्रवाई नहीं की, जिसके बाद पीड़ित व्यापारी ने एसपी सिटी से गुहार लगायी। एसपी सिटी के हस्तक्षेप के बाद कलक्टरगंज पुलिस ने टप्पेबाजी करने वाली तीनों महिलाओं को दबोचा। पकड़ी गयी महिला टप्पेबाजों के पास से तीन लाख पैंतालिस हजार रुपए बरामद हुए।

 

 

यह शातिर महिलाओं का गिरोह शहर में काफी दिनों से सक्रिय था। यह सभी महाराष्ट्र की रहने वाली हैं जो कई शहरों आगरा, दिल्ली में वारदातों को अंजाम दे चुकी हैं। ये शातिर चोरनियां भीड़भाड़ वाले क्षेत्र को टारगेट करती थीं जैसे रेलवे स्टेशन, बस अड्डा, सिनेमाघर वाले स्थानों पर शातिराना ढंग से लोगों को अपना शिकार बनाती थीं। पकड़ी गई तीनों शातिर महिला परमपुरवा जूही निवासी सीमा, लता और रीमा हैं। इनके पास से व्यापारी के साथ हुई टप्पेबाजी के 3 लाख 45 हज़ार रुपये बरामद कर लिए गए हैं।

व्यापारी राज बिंदु गुप्ता की बहादुरी को हर कोई सलाम करता नजर आया। पुलिस के बड़े अफसरों ने भी उनकी तारीफ की, जिसने इन शातिर चोरनियों को पकड़ने में दिन-रात एक कर दिया और पुलिस का काम आसान कर दिया। एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि व्यापारी के साथ हुई टप्पेबाजी के मामले में तीन शातिर महिलाओं को कलक्टरगंज पुलिस की मदद से पकड़ लिया गया है। उन्होंने व्यापारी के साहस की तारीफ भी की। फिलहाल, उन तीनों को जेल भेजा जा रहा है और इनके गिरोह से जुड़े अन्य लोगों की तलाश की जा रही है।

 

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement