Kajol Says SRK is Giving Me The Tips of Acting

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

गुरुवार को कोलकाता में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ हुए दूसरे वनडे मैच में हैट्रिक विकेट लेने वाले पहले भारतीय स्पिन गेंदबाज बने कुलदीप यादव के घर कानपुर के चकेरी केडीए कालोनी में जश्न का माहौल रहा। घरवाले आतिशबाजी छुड़ाने के साथ मिठाईयां बाट रहे हैं। चकेरी स्थित घर में गुरुवार रात कुलदीप के हैट्रिक विकेट लेकर रिकॉर्ड बनाने की खुशी जाहिर करते हुए उनके दोस्त जीशान ने परिवारवालों का मुंह मीठा कराया। इस दौरान कुलदीप के पिता राम सिंह यादव, बहन अमिता और अनुष्का साथ में मां ऊषा खुशी से फूले नहीं समा रही थीं।

 

 

 

टीम इंडिया के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने सीरीज के दूसरे मैच में हैट्रिक मारकर तहलका मचा दिया है। पारी का 33वां ओवर फेंकने आए कुलदीप ने दूसरी, तीसरी और चौथी गेंद में आस्ट्रेलिया के तीन बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया। उन्होंने वेड, ऐस्टन एगर और पैट कुमिंस को अपना शिकार बनाया। टीम इंडिया में आने से पहले ही क्रिकेट विशेषज्ञों ने कह दिया था कि वह आने वाले समय में दुनिया के सबसे बड़े स्पिनर बन सकते हैं।

 

 

कुलदीप यादव (54/3) की हैट्रिक और विराट कोहली (92) की उम्दा पारी की बदौलत टीम इंडिया ने गुरुवार को दूसरे वनडे में ऑस्ट्रेलिया को 50 रन से हरा दिया। कोलकाता के ऐतिहासिक ईडन गार्डन्स में टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी की और पूरी टीम 50 ओवर में 252 रन पर ऑलआउट हुई। जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम 43.1 ओवर में 202 रन पर ढेर हो गई। मैच में 92 रन की उम्दा पारी खेलने वाले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

भुवनेश्वर कुमार ने केन रिचर्डसन को एलबीडब्‍ल्‍यू आउट करके कंगारुओं की पारी का अंत किया। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से मार्कस स्टोइनिस की पारी पर पानी फिर गया। वो 65 गेंदों में छह चौकों और तीन छक्कों की मदद से 62 रन बनाकर नाबाद रहे।

 

इस जीत के साथ ही टीम इंडिया ने पांच मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली है। टीम इंडिया अब दक्षिण अफ्रीका को पीछे छोड़कर आईसीसी वन-डे रैंकिंग में टॉप पर पहुंच गई है। अब सीरीज का तीसरा मैच 24 सितंबर यानी रविवार को इंदौर के होलकर स्टेडियम पर खेला जाएगा।

 

 

कोच ने दी थी “चाइनामैन” गेंदबाज़ बनने की सलाह

उत्तर प्रदेश के औद्योगिक शहर कानपुर में पैदा हुए 22 साल के कुलदीप यादव के पिता राम सिंह यादव ईंटो का भट्ठा चलाते हैं। कुलदीप शुरू में तेज़ गेंदबाज़ बनना चाहते थे, लेकिन उनके बचपन के कोच कपिल पांडेय ने उन्हें “चाइनामैन” गेंदबाज़ बनने की सलाह दी थी। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में खेले गए अंडर 19 क्रिकेट विश्वकप में कुलदीप ने अपनी छाप छोड़ी थी। इसके छह मैचों में उन्होंने 14 विकेट हासिल किए थे। साल 2012 के आइपीएल में कुलदीप मुंबई इंडियन की टीम का हिस्सा थे, लेकिन उन्हें खेलने का मौक़ा नहीं मिला।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement