Salman Khan Helped Doctor Hathi

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

बीती दो जुलाई को सजेती थाना परिसर स्थित पुलिस आवास में एचसीपी पच्चा लाल गौतम की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में पुलिस ने पत्नी किरण देवी समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार घटना का खुलासा किया है।

सजेती थाने में हुई एचसीपी पच्चा लाल गौतम की नृशंस हत्या के मामले के बाद एसएसपी ने एक टीम गठित की थी। क्राइम ब्रांच टीम घाटमपुर, रेलबाजार थाने की टीम व स्वाट टीम ने घटना के आरोपी मृतक एचसीपी की दूसरी पत्नी किरण देवी सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। इस घटना की खास वजह जो निकल कर आई है वह अवैध संबंध है।

 

 

 

पत्‍नी और प्रेमी ने रची हत्‍या की साजिश

आपको बता दें कि पच्चा लाल 2003 में हरदोई में तैनाती के दौरान बेनीगंज निवासी किरण देवी के संपर्क में आए थे। जहां ट्रांसफर के दौरान किरण देवी जोकि पहले से ही शादीशुदा थी को पत्नी के रूप में लेकर रहने लगे। वहीं, पड़ोस में ही रहने वाले जितेंद्र यादव (रोडवेज में ड्राइवर) का पच्चा लाल के नहीं होने पर घर पर ज्‍यादा आना-जाना होने लगा।

इस दौरान जितेंद्र और किरण के बीच न जाने कब प्रेम संबंध हो गए, जिसकी भनक पच्चा लाल को हुई तो उसने इस बात का विरोध किया। उसके बाद कई बार मारपीट भी हुई और फिर पत्‍नी किरण ने प्रेमी जितेंद्र के साथ मिलकर उसे रास्ते से हटाने की साजिश रच डाली।

ये था हत्‍या का प्‍लान

58 वर्षीय पच्चालाल रिटायरमेंट के करीब थे। उन सभी ने साजिश रचते हुए उनकी हत्‍या कर दी। इन लोगों का प्‍लान यह था कि अगर पच्‍चा लाल की ऑन ड्यूटी हत्या होती है तो उनके बेटे को नौकरी और पत्नी को जीवनभर पेंशन मिलती रहेगी और साथ ही इनके प्यार का रास्ता भी साफ हो जाएगा। इस दौरान जितेंद्र ने बड़े ही चतुराई से औरैया निवासी निजाम अली और राघवेंद्र को अपने साथ शामिल कर दो जुलाई को एचसीपी पच्चा लाल गौतम की हत्या कर दी।

एसएसपी अखिलेश कुमार ने बताया कि अवैध संबंध के चलते हत्या की गई है। जहां मृतक एचसीपी की दूसरी पत्नी और उसके प्रेमी और दो अन्य लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इन्हें जेल भेजा जा रहा है।

 

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll