Home Kanpur News IIT Kanpur Starts Service On Hindu Sacred Texts

बीजिंग: सुषमा स्वराज ने किर्गिजस्तान के विदेश मंत्री से मुलाकात की

अमरेली: SP जगदीश पटेल को CID क्राइम ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया

VHP अध्यक्ष कोकजे बोले- राम मंदिर पर हमारे पक्ष में आएगा फैसला

वेंकैया नायडू ने CJI के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव के नोटिस को खारिज किया

आज महाभियोग प्रस्ताव खारिज होने को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी कांग्रेस

आइआटी कानपुर में शुरू हुई हिंदू धार्मिक ग्रंथों की ऑडियो-टेक्स्ट सर्विस

Kanpur | Last Updated : Jan 11, 2018 10:14 PM IST
   
IIT Kanpur Starts Service On Hindu Sacred Texts

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

उत्‍तर प्रदेश में आइआइटी कानपुर पहला ऐसा इंजीनियरिंग कॉलेज बन गया है, जो हिन्दू ग्रंथों से संबंधित टेक्स्ट और ऑडियो सेवा देगा। आइआइटी के आधिकारिक पोर्टल पर उपलब्ध लिंक www.gitasupersite.iitk.ac.in. पर यह सर्विस मिलेगी।

 

 

श्रीमदभगवद्गीता, रामचरितमानस, ब्रह्मासूत्र, योगसूत्र, श्री राम मंगल दासजी और नारद भक्ति सूत्र शामिल हैं। हाल ही में इस लिंक पर वाल्मीकि द्वारा संस्कृत में लिखी रामायण के सुंदरकांड और बालककांड का अनुवाद भी जोड़ा गया है।

 

 

हालांकि, आइआइटी ऑटोनॉमस इंस्टिट्यूशन है, लेकिन अक्सर उन्हें फंड देने वाला एमएचआरडी उनके चार्टर को विवादास्पद रूप में देखता है। इस प्रोजेक्ट को तत्कालीन वाजपेयी सरकार में सूचना पौद्योगिकी मंत्रालय ने 2001 में 25 लाख रुपए की फंडिंग की थी।

 

 

आइआइटी कानपुर के रिसोर्स सेंटर फॉर इंडियन लैंग्वेज टेक्नोलॉजी सॉल्यूशन, डिपार्टमेंट ऑफ कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग के प्रोफेसर टीवी प्रभाकर ने बताया, हमने समय-समय पर इस प्रोजेक्ट पर आइआइटी के अंदर और बाहर के जानकारों की मदद से ये काम किया है, ताकि पवित्र ग्रंथों को उपलब्ध कराया जा सके। ये कोशिश भारत और दुनिया में पहल तरह की है। इसका सम्मान किया जाना चाहिए।

उन्‍होंने कहा, सभी अच्छी चीजों पर लोग सवाल उठाते हैं। इतने महान काम के लिए धर्मनिरपेक्षता पर सवाल नहीं उठाए जा सकते हैं।


"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555




Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


Most read news


Loading...

Loading...