Neha Kakkar First Time Respond On Question Of Ex Boyfriend Himansh Kohli

दि राइजिंग न्यूज़

कानपुर।

 

शनिवार को मर्चेंट चेम्बर हॉल में कानपुर डॉयबिटीज़ एसोसिएशन के तत्वाधान में दो दिवसीय थर्ड एनुअल कांफ्रेंस KDACON-2018 का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कई जगहों से आये डाइबिटीज के एक्सपर्ट्स ने शिरकत की। इस अवसर पर आर्गेनाइसिंग चेयरमैन और कानपुर डाइबिटीज़ एसोसिएशन की अध्यक्ष डॉक्टर नन्दिनी रस्तोगी, डॉक्टर ब्रिज मोहन, डॉक्टर भास्कर गांगुली, डॉक्टर दीपक यागनिक समेत तमाम डॉक्टर्स ने अपने सेशन में डाइबिटीज़ के बारे में विस्तृत से बताया।

 

ये संकेत मिले तो तुरंत पियें 4 चम्मच ग्लूकोज़

आज के परिवेश में इंसान जिस बीमारी से त्रस्त है वो है डाइबिटीज। आजकल ये बीमारी न केवल बड़ो में ही बल्कि युवाओं में भी तेजी से फैल रही है। ये आज के समय की सबसे बड़ी समस्या है और लोग लगातार इस बीमारी को लेकर अनदेखी व लापरवाही करने लगते हैं। सही समय पर खानपान और व्यवस्थित रूप से डोज़ लिया जाए तो शुगर पर नियंत्रण पाया जा सकता है।

 

धनबाद से आये डाईबिटोलॉजिस्ट फिजिशियन डॉक्टर एन.के सिंह ने डाइबिटीज़ के बारे में विस्तृत से बताया कि आखिर किन कारणों से डाइबिटीज़ जैसी बीमारी पनपती है और इसे रोकने के लिए क्या कुछ करना चाहिए। उन्होंने बताया कि हाइपोग्लाइसिमिया आदि ब्लड में शुगर की मात्रा सामान्य से घट जाना डाइबिटीज़ के मैनेजमेंट में एक भारी समस्या है और यह जान तक ले सकती है।

डाइबिटीज़ होने के लक्षण

जब ब्लड में शुगर 70 मिलीग्राम से कम होने लगे तो समझ ले चीनी घट रही है। अगर बेचैनी हो, हाथों में कम्पन, धड़कन, खूब पसीना आना, सिर में दर्द, धुंधलापन आदि, ये शुरुआती लक्षण हैं। इसे अनदेखा न करें बल्कि कभी ऐसा लगे तो उसी समय 4 चम्मच ग्लूकोज़ 15 ग्राम या 15 एमएल मधु या 500 ग्राम की तीन ग्लूकोज़ की गोली ले ली जायें तो तुरंत आराम मिल सकता है।  सस्ती और ज्यादा प्रचलित दवा सल्फोंनाइलेरिया,ग्लीमी पेराइड, ग्लीक्लाजाइड के उपयोग के साथ रक्त में चीनी घटने के ज्यादा डर रहता है। सबसे महत्वपूर्ण यह है कि मरीजों को इसकी सही जानकारी दी जाए। शुरुआती लक्षणों के आते ही ग्लूकोज़ लेकर वह अपने जीवन की रक्षा कर सकें। टाइप टू में इन्सुलिन लेने वालों को रोजाना खुद ग्लूकोमीटर से जांच करनी चाहिए और 100 मिलिग्राम से तीनों की रीडिंग के बाद डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए। उन्होंने बताया कि अमेरिका की एक रिसर्च में पाया गया है कि चीनी घटने से हाइड्रोकार्बन सांस से निकलता है जिसे कुत्ते जल्दी ही सूंघ लेते हैं और मालिक को अपनी खास हरकतों से अलर्ट कर देते है ताकि वह समय पर ग्लूकोज़ ले सकें।

व्यायाम पर दें ध्यान

शारीरिक व्यायाम के साथ साथ कम से कम 40 मिनट का व्यायाम करें और रेसिस्टेंट एक्सरसाइज फ्लेक्सिबिलिटी जैसे योगा, डांसिंग मिलजुलकर करें, इससे फायदा होगा। आजकल बच्चे फास्टफूड की तरफ ज्यादा जा रहे है। उन्हें सतर्क रहने की आवश्यकता है। घर मे सब्जियां लाएं तो उसे 3 मिनट तक धोए। प्लास्टिक की बोतल में पानी न पीयें। ये काफी हानिकारक होता है। स्वस्थ रखने के लिए अच्छा खानपान रखें जिससे आपका जीवन बढ़िया ढंग से चले।

https://www.therisingnews.com/?utm_medium=thepizzaking_notification&utm_source=web&utm_campaign=web_thepizzaking&notification_source=thepizzaking

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement