Home Kanpur News How To Be Tension Free During Exams

बीजेपी ने चुनाव लड़ने के लिए करोड़ों रुपये दिए- कांग्रेस

हिमाचल के किन्नौर में भूकंप के झटके, तीव्रता 4.1

कुमारस्वामी से मुलाकात के बाद तय होगी आगे की रणनीतिः गुलाम नबी आजाद

गहलोत और वेणुगोपाल ने राहुल को कर्नाटक के ताजा हालात की जानकारी दी

कर्नाटक चुनाव में भाजपा ने 6000 करोड़ रुपये खर्च किए- आनंद शर्मा

परीक्षा के तनाव से ऐसे बचें...

Kanpur | Last Updated : May 16, 2018 06:05 PM IST

 

 

  • डॉक्टर्स ने विद्यार्थियों को दिए ज़रूरी टिप्स


How To Be Tension Free During Exams


दि राइजिंग न्यूज़

कानपुर।

 

यूनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ साइंसेस एवं इंडियन मेडिकल एससोसिएशन कानपुर शाखा द्वारा यूनिवर्सिटी के हेल्थ साइंसेज के कांफ्रेंस हाल में “परीक्षा के तनाव से कैसे बचें” को लेकर एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस मौके पर मुख्य अतीथि यूनिवर्सिटी कुलपति नीलिमा गुप्ता, वरिष्ठ हड्डी रोग विशेषज्ञ एएस प्रसाद और डॉक्टर रवि कुमार मौजूद रहे। इस कार्यक्रम का संचालन संस्थान के अध्यक्ष व आइएमए के प्रेसीडेंट डॉक्टर प्रवीण कटियार ने किया। आयोजन की शुरुआत दीप प्रज्ववलित कर की गई।

मोबाइल का प्रयोग करें कम

हाल में मौजूद छात्र छात्राओं को परीक्षा के तनाव से कैसे बचना है, इसको लेकर डॉक्टर्स ने टिप्स दिए। अक्सर विद्यार्थी पढ़ाई को लेकर तनाव में आ जाते हैं, नतीजा उनकी तबियत खराब होने लगती है। नियमित अध्ययन न करने का जो प्रमुख कारण है वो है प्रतिस्पर्धा। आजकल हर कोई अपने आप को एक दूसरे से कम नही समझना चाहता है। प्रमुख कारण है सोशल मीडिया का प्रयोग जो छात्रों का मोबाइल पर ज्यादा समय बर्बाद करता है। ये स्टूडेंट्स के भविष्य पर बुरा असर भी छोड़ रहा है। डॉक्टर प्रसाद ने स्टूडेंट्स से कहा कि लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित होना चाहिए। किसी भी प्रकार की असफलता से निराश न हों, बस प्रयास करते रहें। प्रसिद्ध मनोरोग विशेषज्ञ डॉक्टर रवि कुमार ने स्टूडेंट्स को तनाव से बचने के लिए ज़रूरी निर्देश दिए।

  • परीक्षा के समय अपना रिविज़न रेगुलर रखना।

  • परीक्षा से पहले या बाद में अपने आप को रिलैक्स रखना।

  • परीक्षा के समय ज्यादा भोजन न करना स्वस्थ भोजन करना ,चाय काफी से बचना चाहिए

  • समय से सोना चाहिए।

  • माता-पिता से बातचीत करते रहें, अच्छे स्टूडेंट्स के साथ रहना सीखे

  • अनर्गल वार्तालाप से पढ़ाई को डिस्टर्ब न करें।

  • किसी भी असफलता से डरे नहीं हमेशा कुछ न कुछ सीखने की जिज्ञासा होनी चाहिए इसलिए खुश रहें। किसी भी प्रकार के डिप्रेशन पर अपने माता पिता को ज़रूर अवगत करवाये पढ़ाई के दौरान रट्टा न मारे समझ कर पढ़ें ।

वहीं उन्हीने कहा कि अभिभावकों को भी बुरे वक्त पर अपने बच्चों का सपोर्ट करना चाहिए। जिससे उनका हौसला टूट न सके। अभिभावकों को अपने बच्चों के साथ संवाद बनाये रखना है। अपने बच्चों की दूसरे के साथ तुलना न करें। अपने बच्चों की सबके सामने निंदा न करें।



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...