Ayushman Khurrana Wants To Work in Kishore Kumar Biopic

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

मीटू कैंपेन में बॉलीवुड, क्रिकेट से लेकर राजनीतिक लोगों की फेहिरस्तों की लिस्ट लंबी होती जा रही है। देश भर में महिलाएं खुलकर मीटू के समर्थन में उतर आई हैं और इसी कड़ी में आज सपोर्ट फाउंडेशन के बैनर तले कानपुर के किदवई नगर स्थित केके गर्ल्स इंटर कॉलेज की छात्राएं भी इस कैंपेन के समर्थन में उतरीं। इसके समर्थन में उतरी सैकड़ों छात्राओं ने हाथों में तख्तियां लेकर यौन शौषण की शिकार हुई महिलाओं का समर्थन करते हुए दोषियों को सजा देने की मांग की।

दोषियों को दी जाए सज़ा

फिल्म अभिनेत्री तनुश्री दत्ता से सुर्खियों में आया मीटू कैंपेन के समर्थन में अब देश भर में महिलाएं और छात्राएं उतर आई हैं। महिला संगठन और स्कूली छात्राओं ने कॉलेज परिसर में इस मीटू कैंपेन को आगे बढ़ाने और इसका समर्थन करते हुए देश भर में हो रही ऐसी बर्बरतापूर्ण और यौन उत्पीड़न के मामले में छात्राओं को जागरूक किया और दोषियों को सज़ा देने की मांग की गई।

 

 

इस दौरान छात्राओं और महिला संगठन के लोगों ने मीटू से जुड़े पोस्टर बैनर और तख्तियां लेकर प्रदर्शन किया। जिस तरह से बॉलीवुड और राजनीतिक सदस्यों द्वारा महिलाओं का यौन उत्पीड़न, छेड़छाड़ और उनके साथ बुरा बर्ताव किया जाता है उससे महिलाओं की भावनाएं आहत हुई हैं। फाउंडेशन के मेम्बर्स और स्कूली छात्राओं द्वारा इसका समर्थन किया गया और इस कैंपेन को और आगे बढ़ाने और सेक्सुअल हैरसमेंट, छेड़छाड़ जैसी घटनाओं के प्रति महिलाओं के साथ-साथ छात्राओं को जागरूक करने का अभियान शुरू किया गया।

छात्रा उदिता ने कहा कि महिलाओं पर लगातार यौन उत्पीड़न के मामले बढ़ते जा रहे हैं। हम सभी ने मीटू कैंपेन का सपोर्ट किया है। साथ ही इस संदेश से महिलाओं और छात्राओं को इसका पूरी तरह सपोर्ट करने को लेकर उन्हें जागरूक किया गया है और मांग की है कि इस मामले में महिलाओं के साथ उत्पीड़न करने वाले दोषियों के खिलाफ कार्यवाई करते हुए उन्हें सजा दी जाए।

वहीं, स्कूल टीचर शैलजा कुमारी ने बताया कि हम सभी इस कैंपेन का समर्थन करते हैं और साथ ही सभी महिलाओं से अपील करते हैं कि वह भी इस कैंपेन के समर्थन में आएं।

हमारा फाउंडेशन करेगा मदद

इसके अलावा सपोर्ट फाउंडेशन संस्थापक ज्योति शुक्ला ने बताया कि फ़िल्म इंडस्ट्री से शुरू होकर यह मीटू कैंपेन अब राजनैतिक पार्टियों के नेताओं और आम महिलाओं तक पहुच रहा है और जिसके कई उदाहरण हाल में मिल रहे हैं। अब हमारा फाउंडेशन भी अगर कोई महिला किसी प्रकार से प्रताड़ित होकर हमारे पास आती है तो इस तरह के मामलों को पुलिस प्रशासन तक ले जाएगा और शिकायतकर्ता महिलाओं और लड़कियों की हर कानूनी मदद करेगा।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement