Golmal Starcast Will Be in Cameo in Ranveer Singh Simba

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

पुलिसकर्मियों की भागदौड़ भरी जिंदगी से सभी वाकिफ हैं। पुलिसकर्मी रातभर जागकर और दोपहर की कड़कती धूप में ड्यूटी करता है। उसे इस बात का ज़रा भी पता ही नहीं चल पाता कि वह किन बिमारियों में घिरता जा रहा है। नतीजा बीपी व शुगर, सांस, आंख या हड्डी से संबंधित बीमारी की समस्या उसमें पनपने लगती है। वैसे भी आजकल का खानपान हर व्यक्ति के जीवन में सबसे बड़ी बीमारी बन चुका है।

नि:शुल्‍क स्‍वास्‍थ्‍य मेले का आयोजन

ऐसे ही पुलिसकर्मियों की समस्या से निपटने के लिए शासन द्वारा हर माह की दूसरे शनिवार को रिजर्व पुलिस लाइन में निःशुल्क स्‍वास्‍थ्‍य मेले का आयोजन किया जाता है। इसी कड़ी में शनिवार को भी पुलिस लाइन में स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया गया। इस दौरान पुलिस चिकित्सालय व जिला चिकित्सालय की टीमें मौजूद होकर पुलिसकर्मियों की नि:शुल्क जांच कर उन्हें दवाईयां उपलब्ध करा रही हैं।

 

 

पुलिस अस्पताल के डॉक्टर ज्ञानेंद्र कुमार अधीक्षक ने बताया कि पुलिसकर्मियों में ज्यादातर शिकायत बीपी व शुगर की पाई गईं, क्योंकि उनकी सबसे अहम उनकी ड्यूटी जिसका कोई ठिकाना नहीं, ना ही खाने का ना ही सोने का। वे बाहर रहकर फैटी खाना खाते हैं, जिससे बीमारियां पनपने लगती हैं। हमने ऐसे पुलिसकर्मियों के लिए कहा है कि डाइट पर कंट्रोल करें। बाहरी चीज़ें न खाएं, जिससे वह बेहतर महसूस कर सकें।

 

 

अभी तक 22 पुलिसकर्मियों में बीपी व शुगर की शिकायत पाई गई है। इस मेले में अब तक 50 से ज्यादा पुलिसकर्मियों ने रजिस्ट्रेशन करवा लिए हैं। उन्होंने बताया कि शासन की तरफ से आदेश था कि हर माह के दूसरे शनिवार को एक कैम्प लगाया जाए जिससे पुलिसकर्मियों के स्वास्थ्य का पता चल सके।

 

 

वहीं, पुलिसकर्मी भी बढ़-चढ़कर इस स्वास्थ्य मेले में पहुंचकर इसका लाभ उठा रहे हैं। यहां कानपुर नगर में तैनात पुलिसकर्मियों की जांच होती है। ऐसे ही हर जनपद में भी ऐसे ही मेले का आयोजन होता है।

पुलिस लाइन में तैनात निरीक्षक 57 वर्षीय दीप चंद्र ने बताया कि उनकी आंखों में इंफेकशन की शिकायत थी और यह समस्या बनी रहती है। यहां दिखाया तो पता चला का यूरिक एसिड बढ़ा हुआ है। कारण यही है खानपान ठीक न होना। यहां आकर सही स्थिति का पता चलता है।

वहीं, इस मेले में अवधेश, कैलाश यादव, रंजना यादव, रितु, मनमोहन समेत कई पुलिसकर्मियों ने पहुंचकर इसका लाभ उठाया और अपनी-अपनी जांचें करवाकर दवाईयां लीं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement