Home Kanpur News First Plastic Road To Be Built In Kanpur

चेन्नई: पत्रकारों ने बीजेपी कार्यालय के बाहर किया विरोध प्रदर्शन

मुंबई: ब्रीच कैंडी अस्पताल के पास एक दुकान में लगी आग

कर्नाटक के गृहमंत्री रामालिंगा रेड्डी ने किया नामांकन दाखिल

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने हथियारों के साथ 3 लोगों को किया गिरफ्तार

11.71 अंक गिरकर 34415 पर बंद हुआ सेंसेक्स, निफ्टी 10564 पर बंद

कानपुर में बनेगी प्लास्टिक से पहली सड़क

Kanpur | 13-Nov-2017 13:05:48 | Posted by - Admin
   
First Plastic Road to be Built in Kanpur

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

प्लास्टिक नगर निगम से लेकर लोगों तक जी का झंझाल बना हुआ है, लेकिन अब इसका उपयोग अब सड़क बनाने में किया जाएगा। हालांकि यह उपाय बहुत नया नहीं है, लेकिन उत्तर भारत में इसका प्रयोग पहली बार किया जाएगा। कानपुर में प्रयोग की हुई प्लास्टिक से एक किलोमीटर सड़क बनाने की योजना है।

प्लास्टिक से बनी सड़कें सस्ती होने के साथ अपेक्षाकृत ज्यादा सुरक्षित होंगी। प्लास्टिक कचरे का इस्तेमाल करके बनाई जाने वाली सड़कें मानसून के दौरान टिकाऊ होती हैं। इसके अलावा ये 50 डिग्री सेल्सियस तापमान पर भी नहीं पिघलती हैं।

 

 

एचबीटीयू (हरकोर्ट बटलर प्राविधिक विश्वविद्यालय) कानपुर के सिविल इंजीनियरिंग विभाग के प्रोफेसर प्रदीप कुमार ने इस पर शोध किया है। एचबीटीयू में अगले साल से एमटेक में प्लास्टिक रोड टेक्नोलाजी पाठ्यक्रम शुरू किए जाने का प्रस्ताव है। अध्ययन में पाया गया है कि सड़क बनाने की सामग्री में करीब 15 फीसद हिस्सा प्लास्टिक कचरा होता है। प्रो. प्रदीप ने बताया कि सामान्य सड़कों (तारकोल व गिट्टी से बनी) की उम्र करीब 15 साल होती है। वहीं प्लास्टिक से बनी सड़कों की उम्र सामान्य सड़कों की तुलना में 25 फीसद अधिक होती है।

 

 

एक आकलन के अनुसार देश में प्रतिदिन करीब 15 हजार टन प्लास्टिक कचरा पैदा होता है। इसमें से करीब नौ हजार टन प्लास्टिक को री-साइकिल कर काम में ले लिया जाता है। बाकी हिस्सा कूड़े में पड़ा रहने के साथ नालियों को जाम करता है। प्लास्टिक से बनी सड़कों के लिए गिट्टी व तारकोल मिलाने के दो तरीके हैं। पहला गर्म गिट्टी के साथ प्लास्टिक को मिलाया जा सकता है। इसके अलावा तारकोल के साथ प्लास्टिक को मिलाकर बाद में गिट्टी मिलाई जा सकती है।

 

 

इस प्रक्रिया के अंतर्गत प्लास्टिक कचरे के छोटे-छोटे टुकड़े कर उन्हें गर्म डामर में मिलाया जाता है। इस मिश्रण को पत्थरों पर डाला जाता है। प्लास्टिक कचरे में पॉलीथिन, टॉफी-चॉकलेट के रैपर से लेकर शॉपिंग बैग तक शामिल होते हैं। पीडब्ल्यूडी शहर में प्लास्टिक की सड़क बनाने की योजना बना रहा है।

यह सड़क एक किलोमीटर की होगी। मालरोड में इसे बनाए जाने की योजना है। पिछले दिनों उत्तर प्रदेश सरकार ने पीडब्ल्यूडी से प्लास्टिक से सड़क बनाने के लिए कहा था। इस पर काम शुरू हो गया है।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll

Merchants-Views-on-Yogi-Government-One-Year-Completion




Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news