Sonam Kapoor to Play Batwoman

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

घर से स्कूल पढ़ने गए कई परिवारों के बच्चे मंगलवार को बड़ी मुश्किल में फंस गए। मध्याह्न भोजन बनाते समय लीकेज सिलेंडर में आग लग गई। महिला रसोइया झुलस गई और बच्चों में चीख-पुकार मच गई। स्कूल में आग बुझाने के कोई इंतजाम नहीं और कंट्रोल रूम का फोन नहीं उठा। जैसे-तैसे एक साहसी युवक ने स्थिति काबू की।

 

 

मंधना के प्राथमिक विद्यालय प्रथम में रसोइया सुनीता व शिवानी खाना बना रही थीं। जैसे ही उन्होंने गैस जलाई, लीक कर रहे सिलेंडर में आग लग गई। वहां अफरातफरी शुरू हो गई। प्रधानाचार्य राना प्रवीन व सहायक शिक्षिका कल्पना कटियार ने डरे-सहमे 38 बच्चों को बाहर निकाला। शोर सुनकर जगदीश शर्मा भी वहां पहुंच गए और साहस दिखाते हुए जलते हुए सिलेंडर को बाहर निकाला। फिर पानी-बोरा डालकर आग बुझाई।

 

 

दहशत के चलते ज्यादातर बच्चे घर चले गए तो कुछ के परिजन उन्हें आकर ले गए। घटना में झुलसी रसोइया सुनीता को खंड शिक्षाधिकारी जगदीश श्रीवास्तव ने सीएचसी में भर्ती कराया। प्रधानाचार्य का आरोप है कि उन्होंने कई बार कंट्रोल रूम को फोन किया, लेकिन उठा नहीं।

 

 

वहीं इस घटना पर बीएसए जय सिंह ने कहा कि- स्कूल में खाना रसोइया बना रही थी। सिलेंडर लीकेज था, तो यह देखने की जिम्मेदारी उसी की थी।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll