Crowd Rucuks At Sapna Chaudhary Program in Begusaray of Bihar

दि राइजिंग न्यूज़

कानपुर।

सपा की मुलायम सरकार के समय तत्कालीन  भाजपा विधायक सलिल विश्नोई और कार्यकर्ताओं पर हुई बर्बरता को बयां करने वाले संघर्ष दिवस के आज 15 साल पूरे होने पर जागरूकता मतदाता मंच द्वारा एक संघर्ष सम्मान समारोह का आयोजन रागेंद स्वरूप सभागार में किया गया। इसमें भाजपा के प्रदेश संगठन महामंत्री सुनील बंसल व कैबिनेट मंत्री सतीश महाना द्वारा 15 संघर्षशील भाजपा नेताओं को सम्मानित किया गया।

 

सपा बसपा को नकार चुनी एक अच्छी सरकार

भाजपा के पूर्व विधायक और प्रदेश महामंत्री सलिल विश्नोई ने 2004 में बिजली कटौती और बिगड़ती कानून व्यव्स्था को लेकर सपा सरकार के खिलाफ जमकर आवाज़ उठाई थी, जिसमें आंदोलन भी हुआ। इसमें पुलिस द्वारा लाठियां भी बरसाई गईं थी। जिसके बाद भी लगातार बसपा और सपा सरकारों के विरुद्ध आंदोलन जारी रहा। कानपुर नगर में बिजली कटौती,पेय जल समस्या और बिगड़ती कानून व्यवस्था के खिलाफ हर वर्ष 15 सितंबर को संघर्ष दिवस के रूप में मनाया जाता है। इन प्रभावी आंदोलनों के बाद ही जनता ने सपा और बसपा दोनों को नकार दिया और प्रदेश में भाजपा की सरकार को चुना।

अब बिजली की व्यवस्था हो या पानी की जिसमें काफी हद तक सुधार हुआ है। योगी के नेतृत्व में बिगड़ती कानून व्यवस्था में सुधार हुआ ।है लगातार कड़ी निगरानी रखी जा रही है। इसी कड़ी में आज भी इस अवसर पर 15 वरिष्ठ संघर्षशील कार्यकर्ताओं का सम्मान किया गया। प्रदेश के संगठन मंत्री सुनील बंसल और केबिनेट मंत्री ने सभी को सम्मानित किया।

 

जहां कैबिनेट मंत्री सतीश महाना से सभी कार्यकर्ताओं और नेताओं को जनता की समस्याओं को उजागर करके उनको दूर करने की शपथ दिलाई। उन्होंने कहा की भारतीय जनता पार्टी का हर एक कार्यकर्ता अपने नेता के प्रति समर्पित है और भाजपा का हर एक नेता जनता के प्रति ईमानदार है और उनके लिए सदैव संघर्षरत है। 2019 में हर एक कार्यकर्ता अपने स्वाभिमान की रक्षा के लिए प्रधान मंत्री मोदी के हाथो को मजबूत करेगा।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement