Home Kanpur News Congress Workers Meeting In Kanpur

तूतीकोरिन हिंसा: कांग्रेस ने PM नरेंद्र मोदी से पूछे 10 सवाल

PM मोदी 29 मई से 2 जून तक इंडोनेशिया और सिंगापुर के दौरे पर रहेंगे

हापुड़ः लूटपाट के इरादे से बदमाशों ने की दिल्ली पुलिस के दरोगा की हत्या

तूतीकोरिन में फिर भड़की हिंसा के बाद भारी सुरक्षा व्यवस्था तैनात

मूनक नहर की मरम्मत मामले में हरियाणा ने दिल्ली HC में दाखिल की रिपोर्ट

...जब आपस में ही भिड़े कांग्रेसी

Kanpur | Last Updated : May 12, 2018 02:45 PM IST
  • कानपुर में कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन

Congress Workers Meeting in Kanpur


दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

शनिवार को कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन अव्यवस्था की भेंट चढ़ गया। अव्यवस्था के चलते कांग्रेसी कार्यकर्ता आपस मे भिड़ गए। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने 2017 में हुए चुनाव में सहयोग न करने का आरोप बड़े नेताओं पर लगाया है।

कानपुर में शनिवार को रागेंद्र स्वरूप सभागार में कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन का कार्यक्रम था, जिसमें कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर व कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव गुलाम नबी आजाद ने शिरकत की।

आपको बताते चलें कि 2019 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर यह कार्यकर्ता सम्मेलन रखा गया था। जिसमें राज बब्बर व गुलाम नबी आजाद को कार्यकर्ताओं का गुस्सा झेलना पड़ गया। बता दें कि हाल में ही हुए 2017 में नगर निगम चुनाव में कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि किसी भी बड़े शीर्ष नेता ने प्रत्याशियों का साथ नहीं दिया। जिसके चलते पार्टी बुरी तरह हारी और अगर ऐसा ही आलम रहा तो 2019 के लोकसभा चुनाव के परिणाम भी घातक होंगे।

 

 

वहीं, प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर व राष्ट्रीय महासचिव गुलाम नबी को मंच पर खड़े होकर कार्यकर्ताओं को शांत करवाना पड़ा। हालात इस कदर खराब थे कि कार्यकर्ता अपने किसी भी वरिष्ठ नेता की कोई भी बात सुनने के लिए तैयार नहीं थे। कार्यकर्ताओं ने शहर अध्यक्ष पर खुलेआम आरोप लगाया कि उन्होंने निकाय चुनाव में जमकर धांधली की और एक अन्य वरिष्ठ नेता के साथ मिलकर मनमानी की।

उन्‍होंने कहा, जो प्रत्याशी वार्डों में जीतने लायक थे, उन्हें टिकट न देकर कमजोर प्रत्याशियों को चुनावी मैदान में उतारा, जिससे कांग्रेस धराशायी हो गयी। कार्यकर्ताओं का गुस्सा देखकर शहर स्तर के सभी नेता अपनी-अपनी बगले झांकने लगे। राजबब्बर व गुलाम नबी आजाद ने स्थिति को संभाला और गुस्साए कार्यकर्ताओं को समझाया।



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...