Akshay Kumar and Priyadarshan Donated to Save Flood Affected People in Kerala

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

सोमवार को कानपुर महानगर कांग्रेस कमेटी के सदस्यों ने बारिश के चलते शहर की बिगड़ी व्यवस्था दुरुस्त न होने को लेकर अपना विरोध जताया। उन्‍होंने मंडलायुक्त कार्यालय में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर नारेबाजी की और साथ ही ज्ञापन भी सौंपा।

आपको बता दें पिछले कई दिनों से बारिश ने शहर की नींद हराम कर दी। जहां शहर के क्षेत्रों में कई घर बाढ़ की चपेट में आ गए जिससे लोग बेघर होकर सड़क पर आ गए। इसके बाद से विपक्षी सरकार व जिला प्रशासन की चारों तरफ किरकिरी शुरू हो गयी।

कांग्रेस जिला अध्यक्ष हर प्रकाश अग्निहोत्री ने कहा कि जिस तरह से कानपुर में तमाम जन समस्याएं व्‍याप्‍त हैं। विभिन्न क्षेत्र जो बरसात के कारण जलभराव की समस्या से जूझ रहे हैं, इसको लेकर अब तक नगर निगम प्रशासन केवल कागजी खानापूर्ति कर रही है। इससे लोगों का जन जीवन अस्त-व्यस्त तो हुआ ही है साथ ही उनको रहने से लेकर खाने तक कि समस्याओं का सामना करना पड़ा।

अधिकारियों और कर्मचारियों की मिलीभगत

उन्‍होंने कहा, सड़कों पर बजरी फैली हुई है। लोग वाहनों से गिर कर चुटहिल हो रहे हैं। जाम की स्थिति वही पुरानी है। सीसीटीवी की हालत किसी से छुपी नहीं है, जबकि करोड़ों रुपये सुगम यातायात की व्यवस्था के नाम पर सरकारी धन का दुरुपयोग किया गया है। नगर निगम प्रशासन द्वारा नाला सफाई व अन्य कार्यों के लिए लाखों-करोड़ों रूपया खर्च कर दिया गया। अधिकारियों और कर्मचारियों की मिलीभगत के चलते केवल कागज़ों में बात का आश्वासन दिया जाता है।

उन्‍होंने कहा, जिस विकट स्थिति का सामना जनता जो करना पड़ रहा है, उसके लिए पूरा नगर निगम और पीडब्ल्यूडी जिम्मेदार है। हमारी मांग है कि इस मामले में निष्पक्ष जांच करते हुए कठोर कार्यवाई की जाए।

 

 

जेल जाने से भी पीछे नहीं हटेंगे

वहीं, विधायक सुहैल अंसारी ने बताया कि कानपुर में बरसात से जो जनता को समस्याएं हुईं, उसकी जिम्मेदार नगर निगम के लोग हैं। आज जनता बेहाल है। जलभराव के चलते परिवारों को छोटे-छोटे बच्चों के साथ सड़क पर सोना पड़ रहा है और ये बड़ी लापरवाही है। हम सभी कांग्रेसी जनता के हित में कार्य करते हुए जनता के साथ खड़े रहेंगे। यदि ज्ञापन के माध्यम से हमारी मांगें नहीं मानी गईं तो जरूरत पड़ने पर धरना देंगे और भूख हड़ताल कर जेल जाने से भी पीछे नहीं हटेंगे।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll