Baaghi 2 Assistant Director Name Came in Physical Assault

दि राइजिंग न्‍यूज

कानपुर।

 

कानपुर में चंदारी स्टेशन पर नार्थईस्ट एक्सप्रेस के जनरल कोच से करीब 100 यात्रियों को जबरन नीचे उतार कर फौजियों ने कब्जा कर लिया। इससे नाराज यात्रियों ने इंजन के सामने खड़े होकर गाड़ी रोक दी। जीआरपी, आरएएफ और पुलिस को बुलाया गया। उन्होंने यात्रियों को दोबारा उसी कोच में बैठाया तब मामला शांत हुआ।

 

 

गुवाहाटी जा रही नार्थईस्ट एक्सप्रेस के सामान्य कोच में आनंद विहार से करीब 15 फौजी सवार हुए थे। उनके साथ में करीब 100 अन्य यात्री भी थे। गुरुवार दोपहर 1.07 बजे ट्रेन कानपुर सेंट्रल पहुंची। यहां करीब 20 फौजी इसी कोच में बैठ गए। चंदारी स्टेशन पर सिग्नल नहीं मिलने से ट्रेन रुक गई। इसी दौरान फौजियों ने पूरे कोच में कब्जा कर लिया और यात्रियों को जबरन नीचे उतार कर दरवाजे बंद कर लिए।

 

 

इसी बीच सिग्नल मिल गया। तब अधर में फंसे आक्रोशित यात्री इंजन के सामने जाकर लेट गए। यह देखकर ड्राइवर ने ट्रेन बढ़ाने से मना कर दिया। हंगामा देख स्टेशन प्रभारी सर्वेश सिंह ने कंट्रोल रूम को जानकारी दी। आनन-फानन में आरपीएफ प्रभारी राजीव वर्मा फोर्स के साथ मौके पर पहुंची। जीआरपी और पुलिस भी पहुंची। यात्रियों को समझा बुझाकर इंजन के आगे से हटाया गया।

 

 

स्टेशन डायरेक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार भी वहां पहुंचे। आरएएफ प्रभारी ने बताया कि फौजियों को कोच में एक तरफ कर सभी यात्रियों को दोबारा उसी कोच में गया। इसके बाद ही गाड़ी आगे बढ़ सकी। यात्रियों की सुरक्षा के लिए पुलिस भी साथ भेजा गया। नार्थ ईस्ट एक्सप्रेस कानपुर सेंट्रल पर 24.17 घंटा देरी से पहुंची। इस घटना के बाद गाड़ी करीब 40 मिनट तक चंदारी स्टेशन पर खड़ी रही।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement