Neha Kakkar Crying gets Emotional in Memories of Ex Boyfriend Himansh Kohli

दि राइजिंग न्‍यूज  

कानपुर।

 

सीएसएमे द्वारा आयोजित अखिल भारतीय कृषि मेला एवं औद्योगिकी प्रदर्शनी में मुख्य अतिथि के रूप में कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने शिरकत की। उन्होंने कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलन से की। उन्होंने कुछ किसानों को शॉल एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। अपने संबोधन में उन्‍होंने स्‍व. प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री, स्‍व. अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए कहा कि शास्त्री जी ने तो जय जवान के साथ जय किसान का नारा दिया।

 

 

इस नारे में उनका दृढ़ विश्वास था कि जिस प्रकार देश की सीमा के साथ ही देशवासियों की रक्षा सेना का जवान अपना बलिदान देकर करते हैं। उसी तरह किसान अपना पसीना बहाकर खेतों मे अन्न उगाकर करते हैं। शाही ने प्रधानमंत्री मोदी का जिक्र करते हुए कहा कि वे देश के किसानों की आय में इजाफा करने के लिए कई योजनाएं चला रहे हैं और आगे भी किसान के लाभार्थ योजना चलाने वाले हैं। वे समझते हैं कि किसान इस धरती का देवता है, जो कड़ी मशक्कत कर धरती से अन्न उगाता है, तब लाखों देशवासियों का खाली पेट भरता है।

 

 

उन्होंने योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि यह हम सब का सौभाग्य है कि अपने देश के प्रति समर्पित ऐसे प्रधानमंत्री फिर मिलेंगे। उन्होंने विश्वास जताया कि आगामी आम चुनाव के बाद देश की जनता एक बार फिर मोदी जी को ही प्रधानमंत्री बनाएगी, तभी देश उन्नति के शिखर पर पहुंचेगा। कठिनाई के बाद ही अच्छे दिन देखने को मिलेंगे।

मंत्री शाही द्वारा सम्‍मानित किसानों में दिलीप नगर के संतोष, कन्‍नौज के भगवान दीन, फतेहपुर के दिनेश मिश्रा, हरदी के राकेश त्रिपाठी व अन्य किसान शामिल हैं। इससे पूर्व उन्होंने विभागों, किसानों व विभिन्‍न कंपनियों द्वारा लगाई गयी प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया। आयोजकों के किए गए प्रयास की सराहना भी की।

इससे पूर्व चन्द्रशेखर आजाद कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति निदेशक डॉ. धूम सिंह, डॉ. पूनम सिंह, डॉ. ए सी दास, कृषि विशेषज्ञ डॉ. अशोक कुमार एवं उनके सहयोगी मौजूद रहे।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement