Actor Varun Dhawan Speaks on relation With Natasha Dalal in Koffee With Karan

दि राइजिंग न्यूज़

इंटरनेशनल डेस्क।

 

पाकिस्तान आम चुनाव में इस बार महिलाओं की हिस्सेदारी बढ़ाई गई है। जिसके तहत हर पार्टी को सामान्य सीटों पर भी कम से कम 5 प्रतिशत महिलाओं को टिकट देना अनिवार्य है। हालांकि, पहले से ही नेशनल असेंबली की 342 सीटों में 60 महिलाओं के लिए आरक्षित थीं लेकिन, नए कानून के तहत देश में महिलाओं का प्रतिनिधित्व और बढ़ाया गया है। टिकट पाने के बाद महिला उम्मीदवार प्रचार में भी जुट गई हैं।

 

पाक आम चुनाव में सबसे बड़ा नाम मरयम नवाज शरीफ का

मौजूदा चुनाव के मद्देनजर पाकिस्तान की महिला उम्मीदवारों में सबसे बड़ा नाम मरयम नवाज शरीफ का है, जो पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी हैं। वो नेशनल असेंबली सीट 125 से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ रही हैं।

पाकिस्तान मुस्लिम लीग(नवाज) की नेता और पूर्व पीएम की बेटी ने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर अपना नामांकन दाखिल किया है। पाक मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शुक्रवार को नामांकन के आखिरी दिन उन्होंने अपना नामांकन वापस नहीं लिया है, जिसका मतलब है कि वह अपनी पार्टी के टिकट पर चुनाव नहीं लड़ रही हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्हें पेंसिल चुनाव चिन्ह मिला है। हालांकि, पहले खबर ये भी थी कि वो अपने परिवार की परंपरागत सीट 120 से चुनाव लड़ेंगी।

 

मरयम नवाज 44 साल की हैं। उन्होंने इंग्लिश लिटरेचर में मास्टर्स किया है और पॉलिटिकल साइंस में पीएचडी की है। हालांकि, उनकी डिग्री को लेकर काफी विवाद है। इससे पहले 19 साल की उम्र में ही मरयम नवाज की शादी हो गई थी। मरयम नवाज का यह पहला चुनाव है।

पाकिस्तान चुनाव में मरयम नवाज के अलावा ज़रताज गुल वजीर सबसे लोकप्रिय चेहरा बनकर उभरी हैं। ज़रताज को पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए इंसाफ से टिकट दिया गया है। वह नेशनल असेंबली सीट 191 से चुनावी मैदान में हैं।

 

इमरान खान की पार्टी की चुनावी रणनीति

इमरान खान की पार्टी ने एक ऐसी सीट पर महिला उम्मीदवार को उतारा है, जहां पहले महिलाओं को वोट देने तक की इजाजत नहीं थी। खैबर पख्तूनख्वा की प्रांतीय असेंबली सीट 10 से पीटीआई ने हमीदा शाहिद को टिकट दिया है, जो बड़ी निर्णय माना जा रहा है।

शादी के बाद ज़रताज भी इमरान खान से प्रभावित होकर राजनीति से जुड़ गईं। 2013 में ज़रताज ने नेशनल असेंबली 172 से चुनाव लड़ा, लेकिन वो हार गईं। फिलहाल, वो एक बार फिर मैदान में हैं और जमकर चुनाव प्रचार कर रही हैं।

 

क्या कहता है कानून

नए कानून के तहत किसी भी सीट पर महिलाओं की वोटिंग 10% से कम रहने पर दोबारा चुनाव होने का प्रावधान है। पाकिस्तान चुनाव आयोग ने महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत बढ़ाने के लिए यह कदम उठाया है। दरअसल, कई इलाके ऐसे हैं जहां पिछले चुनावों में महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत काफी कम रहा था।

पाकिस्तान चुनाव में मरयम नवाज के अलावा ज़रताज गुल वजीर सबसे लोकप्रिय चेहरा बनकर उभरी हैं। ज़रताज को पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए इंसाफ से टिकट दिया गया है। वह नेशनल असेंबली सीट 191 से चुनावी मैदान में हैं।

 

इससे पहले 2013 के चुनाव में पाक नेशनल असेंबली में 70 महिलाएं चुनकर पहुंचीं थीं। इनमें से 60 आरक्षित सीटों पर जीती थीं, जबकि सामान्य सीटों पर सिर्फ 9 और एक अल्पसंख्यक सीट से चुनीं गई थी। चुनाव आयोग के मुताबिक इस बार आम चुनाव में 10 करोड़ 65 लाख वोटर हैं। इनमें 5।92 करोड़ पुरुष और 4।67 करोड़ महिला वोटर हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement