Box Office Collection of Raazi

दि राइजिंग न्यूज़

इंटरनेशनल डेस्क।

 

पाकिस्तान ने आइबी (इंटरनेशनल बॉर्डर) से लेकर एलओसी तक बैट दस्ते की तैनाती की है। इनपुट है कि 60-70 दस्ते इन दोनों स्थानों पर हमले की फिराक में हैं। आइबी पर रामगढ़़ सेक्टर में मंगलवार की रात हुए हमले में भी बैट के शामिल होने का शक है। हालांकि, इसकी आधिकारिक रूप से पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन बीएसएफ के एडीजी केएन चौबे ने न तो इसे स्वीकार किया है और न ही इसकी संभावना से इनकार किया है।

बौखला गया पाकिस्तान

सूत्रों ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय सीमा पर घुसपैठ में नाकाम रहने तथा बीएसएफ के जवाबी कार्रवाई में भारी नुकसान से बौखलाए पाकिस्तान ने बैट हमले की साजिश की है। मंगलवार की रात हुई घटना में भी फेंस के काफी करीब से बीएसएफ जवानों को निशाना बनाया गया है। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि बैट के  सदस्य काफी करीब तक आ गए थे और उन्होंने बीएसएफ जवानों को निशाना बनाया। अमूमन सीजफायर उल्लंघन के दौरान बिल्कुल फेंस के करीब से जवानों को निशाना बनाए जाने की बात सामने नहीं आई है। इसलिए आशंका जताई जा रही है कि जवानों को निशाना बनाने में बैट का हाथ होगा।

 

बैट सबसे अधिक एलओसी पर सक्रिय है। राजोरी, पुंछ के साथ ही उत्तरी कश्मीर के बारामुला, कुपवाड़ा व बांदीपोरा में यहां की भौगोलिक परिस्थितियां बैट हमले में सहायक होती हैं क्योंकि घने जंगलों के कारण उनके मूवमेंट का पता लगा पाना मुश्किल होता है। गत सात जून को एलओसी पर उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के केरन सेक्टर में बैट हमले में जवान सुखविंदर सिंह शहीद हो गया था, जबकि एक अन्य जवान गंभीर रूप से घायल है।

क्या है बैट

बैट में पाकिस्तानी सेना के साथ ही आतंकी व कसाई शामिल होते हैं। सभी काफी प्रशिक्षित तथा खूंखार होते हैं। वे किसी भी स्थिति में ज्यादा से ज्यादा नुकसान पहुंचाने की मंशा से ही हमला करते हैं। उन्हें हमले के दौरान शवों को क्षत विक्षत करने में किसी भी प्रकार की तनिक भी झिझक नहीं होती है। कुछ मौकों पर जवानों के सिर भी काटे गए हैं।

 

कश्मीर घाटी में घुसपैठ के लिए एलओसी पार बने लांचिंग पैड पर 200 से 250 प्रशिक्षित आतंकी घुसपैठ के लिए तैयार बैठे हैं। इनपुट हैं कि 28 जून से शुरू हो रहे अमरनाथ यात्रा के दौरान भारी तबाही की साजिश के तहत आतंकियों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में इस पार भेजने की फिराक में आतंकी संगठन हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll