Actress katrina Kaif and Mouni Roy Visited Durga Puja Pandal

दि राइजिंग न्यूज़

इंटरनेशनल डेस्क।

 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन ऐतिहासिक शिखर वार्ता के लिए रविवार को सिंगापुर पहुंच गए। यह वार्ता मंगलवार को होनी है। किसी सत्तारूढ़ अमेरिकी राष्ट्रपति की उत्तर कोरिया के नेता के संग यह पहली मुलाकात होगी।

 

किम की उत्तर कोरिया से सिंगापुर तक की यात्रा बहुत गोपनीय रही। आखिरी समय तक किसी को यह नहीं पता चला कि आखिर किम किस विमान से सिंगापुर पहुंचेंगे। सिंगापुर के लोग किम की एक झलक पाने के लिए सड़कों पर उनका इंतजार करते रहे लेकिन यह संभव नहीं हो सका।

प्योंगयांग से 3 विमान सिंगापुर पहुंचे थे। इनमें से एक सोवियत निर्मित इल्यूशिन-62 भी था जो किम का निजी विमान है। यह विमान भले ही सिंगापुर पहुंचा लेकिन आखिरी तक इस बात को लेकर संशय बरकरार था कि किम किस विमान में हैं। यह आशंका सच साबित हुई। किम एयर चाइना के बोइंग 747 विमान से चीन होते हुए सिंगापुर पहुंचे। वहीं अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का विमान एयरफोर्स वन कनाडा से सीधा सिंगापुर पहुंचा। ट्रंप कनाडा में जी-7 की बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे थे।

 

सिंगापुर पहुंच कर किम ने चांगी एयरपोर्ट पर वहां के विदेश मंत्री विवियान बालकृष्णन के साथ मुलाकात की। सिंगापुर के विदेश मंत्री ने एयरपोर्ट पर किम के साथ हाथ मिलाते हुए एक तस्वीर भी ट्विटर पर पोस्ट की। एयरपोर्ट से किम लीमोजीन में सवार होकर अपने वाहनों के काफिले के साथ होटल के लिए रवाना हो गए। शाम को किम ने सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सिएन लूंग से मुलाकात की।

मुलाकात के बाद किम ने कहा, "पूरी दुनिया उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच होने वाली इस ऐतिहासिक वार्ता की तरफ देख रही है। मैं आपके (सिंगापुर) प्रयासों के लिए धन्यवाद करता हूं।" अमेरिकी राष्ट्रपति सोमवार को सिंगापुर के प्रधानमंत्री के साथ मुलाकात करेंगे।

 

एक मिनट में किम की गंभीरता पता चल जाएगी: ट्रंप

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उन्हें किम के साथ मुलाकात के बाद एक मिनट में पता चल जाएगा कि वे वार्ता के लिए गंभीर हैं या नहीं। कनाडा में जी7 शिखर सम्मेलन बैठक से सिंगापुर के रवाना होते वक्त ट्रंप ने शनिवार को कहा कि वे एक "शांति का मिशन" शुरू कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अमेरिका से अघोषित "सुरक्षा" के बदले में किम को अपने परमाणु कार्यक्रम को छोड़ने के लिए तैयार करने का उनके पास एक "स्पष्ट उद्देश्य" है। ट्रंप ने स्वीकार किया कि इस बैठक पर बड़ा दांव लगा है और और इसकी दिशा अप्रत्याशित है। साथ ही उन्होंने कहा कि यह "उस क्षण में तय होगा।"

ट्रंप-किम की मुलाकात पर खर्च होंगे एक अरब रुपये

ट्रंप और किम की ऐतिहासिक मुलाकात पर सिंगापुर 100 करोड़ रुपये खर्च करेगा। सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सिएन लूंग ने रविवार को यह खुलासा किया। सिंगापुर उन चुनिंदा देशों में शामिल है जिनके अमेरिका और उत्तर कोरिया दोनों के साथ कूटनीतिक संबंध हैं।

 

ली ने कहा कि इस वार्ता पर सिंगापुर 20 मिलियन सिंगापुर डॉलर (लगभग 100 करोड़ रुपये) खर्च करेगा। इसमें आधी राशि सुरक्षा पर खर्च की जाएगी। उन्होंने कहा कि यह वार्ता सिंगापुर के लिए भी फायदेमंद है। इससे हमें प्रचार मिला है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement