Deepika Padukone Turns As A Relative Of Arjun and Sonam After Marrying Ranveer Singh

दि राइजिंग न्यूज़

इंटरनेशनल डेस्क।

 

आइएसआइ और हाफिज सईद का साथ बरसों पुराना है। शायद यही वजह है कि सरकारी एजेंसी पाक आम चुनाव 2018 में हाफिज सईद की मदद कर रही है।

 

सईद के समर्थन में जुटी ISI

दरअसल, पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने हाफिज की पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग की मान्यता रिजेक्ट कर दी है लेकिन, ISI  हाफिज सईद और उसके बेटे ताल्हा सईद को पाक के चुनाव में पीछे से समर्थन दे रही है। यह खुलासा भारतीय खुफिया एजेंसियों ने किया है। भारतीय एजेंसी के मुताबिक ISI पाक में खालिस्तानी आतंकी संगठनों और हाफिज सईद के साथ मीटिंग कर चुनाव के दौरान हाफिज और उसके बेटे की मदद करने के लिए कहा है। सूत्रों के मुताबिक इसके बदले पाकिस्तान की ख़ुफिया एजेंसी ISI इन खालिस्तानी आतंकियों की मदद पंजाब में आतंक फैलाने के लिए करेगी।

ISI का प्लान

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ISI ने इसके लिए पाक में रह रहे खालिस्तानी आतंकियों के चीफ और हाफिज सईद की मीटिंग कराई है। इस मीटिंग में ISI के अधिकारियों के साथ-साथ हाफिज और उसका बेटा मौजूद था। इस मीटिंग में BKI के प्रमुख वाधवा सिंह और सदस्य मेहाल सिंह बब्बर भी शामिल रहे। इसके अलावा मीटिंग में खालिस्तान जिंदाबाद के चीफ रंजीत सिंह, KCF के चीफ पराजीत सिंह और DKI के गजेंद्र सिंह भी शामिल रहे।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement