Actress Neha Dhupia on Her Pregnancy

दि राइजिंग न्‍यूज

इस्‍लामाबाद।

 

पाकिस्‍तान में चुनाव के मद्देनजर इस बार कई तरह के बदलाव किए गए हैं। चुनाव आयोग ने हाल ही में एक अभूतपूर्व कदम उठाते हुए पहली बार पोलिंग बूथ के अंदर भी सेना को तैनात करने का फैसला किया था। अब एक और नए बदलाव के तहत पाकिस्तान में प्रत्येक राजनीतिक पार्टी को सामान्य सीटों पर भी कम से कम पांच फीसदी महिलाओं को टिकट देना अनिवार्य किया गया है। ये अनिवार्यता 2017 इलेक्शन एक्ट के तहत की गई है। आपको बता दें कि पाकिस्तान में 25 जुलाई को आम चुनाव होने हैं।

इसके अलावा चुनाव में महिलाओं की भागीदारी को बढ़ाने के लिए भी पाकिस्तान चुनाव आयोग द्वारा एक और सराहनीय कदम उठाया गया है। अगर किसी सीट पर महिलाओं की वोटिंग प्रतिशत 10 फीसदी से कम रहती है तो वहां दोबारा चुनाव कराने का निर्णय लिया गया है। पाकिस्तान में महिलाओं की स्थिति पहले से ही चिंताजनक है और पिछले आम चुनाव में जिस तरह से महिलाओं की वोटिंग प्रतिशतता काफी कम रही थी, उसको देखते हुए चुनाव द्वारा यह फैसला किया गया है।

 

10 करोड़ से ज्यादा वोटर करेंगे मताधिकार का इस्तेमाल

इस बार के आम चुनाव में पाकिस्तान में 10 करोड़ 65 लाख मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। पिछले आम चुनाव के मुकाबले इस बार वोटरों की संख्या 2 करोड़ ज्यादा है। कुल मतदाताओं में 5.92 करोड़ पुरुष हैं जबकि 4.67 करोड़ महिला हैं। पुरुषों के मुकाबले इस बार महिला मतदाताओं की संख्या 1.25 करोड़ कम हैं। कुल 91 लाख महिलाएं पहली बार इस चुनाव में वोट करेंगी।

कुल 436 महिलाओं ने इस बार भरा है पर्चा

इस बार के चुनाव में कुल 21,482 उम्मीदवारों ने नामांकन किया है, जिसमें 436 महिलाएं और दो ट्रांसजेंडर शामिल हैं। पिछले आम चुनाव के मुकाबले इस बार कम उम्मीदवारों ने पर्चा भरा है। 2013 में कुल 28,302 उम्मीदवारों ने नामांकन किया था। सबसे ज्यादा पंजाब प्रांत से 231 महिलाओं ने इस बार पर्चा भरा है। हालांकि यह संख्या घट-बढ़ भी सकती है, क्योंकि अभी तक पार्टियों की ओर से लिस्ट फाइनल नहीं हुई है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement