FIR Registered Against Singer Abhijeet Bhattacharya For Misbehavior From Woman

दि राइजिंग न्यूज़

इंटरनेशनल डेस्क।

 

अमेरिका स्थित व्हाइट हाउस पहली बार इफ्तार पार्टी का आयोजन करने जा रहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस पार्टी का आयोजन कर रहे हैं। हालांकि कई मुस्लिम संगठनों ने निर्णय लिया है कि वह इस इफ्तार पार्टी का बहिष्कार करेंगे। ऐसा इसलिए किया जाएगा क्योंकि ट्रंप मुस्लिम विरोधी राजनीति करते रहे हैं। पिछले साल ट्रंप ने दशकों से चली आ रही परंपरा को तोड़ते हुए इफ्तार डिनर को खत्म कर दिया था। यह एक द्विपक्षीय परंपरा है जिसकी औपचारिक तौर पर शुरुआत बिल क्लिंटन ने 1990 में की थी लेकिन इसकी वैचारिक जड़े 1805 में थॉमस जेफरसन के समय से जुड़ी मानी जाती हैं।

मुस्लिम संगठनों का विरोध

इस हफ्ते की शुरुआत में जब व्हाइट हाउस ने इस बात की पुष्टि की कि ट्रंप इस साल इफ्तार डिनर को होस्ट करेंगे तो बहुत से मुस्लिम संगठनों ने इसका विरोध किया। अब यह कार्यक्रम बुधवार रात को आयोजित होगा। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने पत्रकारों को बताया, मुझे लगता है कि इसमें लगभग 30-40 विभिन्न समुदाय के लोग उपस्थित होंगे। वाशिंगटन में अग्रणी मुस्लिम समूह जिन्होंने पिछले प्रशासन के तहत कार्यक्रम में भाग लिया था उनका कहना है कि ट्रंप लगातार इस्लाम और उसे मानने वालों को निशाना बनाते रहे हैं।

 

संगठनों की घोषणा

बहुत से संगठनों ने घोषणा की है कि वह व्हाइट हाउस के बाहर इफ्तार पार्टी का आयोजन करेंगे। एक आयोजक ने अपने बयान में कहा, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका और विदेशों में अपने राष्ट्रपति चुनाव प्रचार के दौरान से ही मुस्लिमों के प्रति प्रतिकूल प्रदर्शन किया है। वह लगातार अन-अमेरिकन मुस्लिम और रिफ्यूजी ट्रैवल बैन का समर्थन कर रहे हैं। काउंसिल ऑन अमेरिकन-इस्लामिक रिलेशन का कहना है ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद से अमेरिकन मुस्लिमों को कट्टरपंथ की वजह से निशाना बनाया जा रहा है।

वाशिंगटन बेस्ड नागरिक अधिकार संगठन ने कई बार इस्लामोफोबिया और ट्रंप के प्रशासन की नीतियों और नियुक्तियों में जारी नस्लीयता को लेकर अपनी चिंता जाहिर की है। 2016 में चुनाव प्रचार के दौरान ट्रंप ने प्रतिज्ञा की थी वह मुस्लिमों को अमेरिका के अंदर घुसने नहीं देंगे। अपना कार्यालय संभालने के बाद ट्रंप ने बहुत से मुस्लिम बहुल देशों पर ट्रैवल बैन लगा दिया था और अनिश्चित काल तक के लिए मेरिकी शरणार्थी कार्यक्रम निलंबित कर दिया था।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll