Kedarnath Crosses Rs 50 Crore Mark at Box Office

दि राइजिंग न्यूज़

इंटरनेशनल डेस्क।

 

गुरुवार को चीनी सरकार ने आयात शुल्क पर अमेरिका को चेतावनी दी है। सरकार ने कहा कि वह अपनी धमकियों से पूरी दुनिया पर बंदूक तान रहा है। चीन ने कहा है कि अमेरिकी टैरिफ के प्रभाव में आने के तुरंत बाद बीजिंग भी अमेरिका द्वारा शुरू किए गए ट्रेड वॉर का जवाब देगा। 34 अरब डॉलर के चीनी आयात पर ट्रंप प्रशासन द्वारा लगाया गया शुल्क शुक्रवार को दोपहर बाद लागू हो जाएगा।

 

पहली गोली चीन की नहीं होगी

यदि चीन ने इस कार्रवाई के खिलाफ कोई कदम उठाया तो अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने 450 अरब डॉलर के चीनी सामानों पर आयात शुल्क लगाकर व्यापार युद्ध (ट्रेड वॉर) छेड़ने की धमकी दी है। चीन ने कहा है कि वह इस युद्ध में अपनी तरफ से पहली गोली नहीं चलाएगा, लेकिन चीनी कस्टम एजेंसी ने स्पष्ट किया कि वाशिंगटन द्वारा चीनी सामान पर आयात शुल्क के प्रभावी होने के तुरंत बाद चीन भी अमेरिकी सामान पर आयात शुल्क लगा देगा। चीन ने स्पष्ट किया कि वह अमेरिका द्वारा शुरू ट्रेड वॉर में अपनी तरफ से पहले कूदने का पक्षधर नहीं है।

चीन ब्लेकमेलिंग के आगे नहीं झुकेगा

चीनी वाणिज्य मंत्रालय के प्रवक्ता गाओ फेंग ने चेताया कि प्रस्तावित अमेरिकी टैरिफ से विश्व स्तर पर आपूर्ति श्रंखला प्रभावित होगी। उन्होंने कहा कि यदि अमेरिका टैरिफ लागू करता है तो इसका अर्थ होगा कि वे वास्तव में सभी देशों की कंपनियों पर आयात शुल्क जोड़ देंगे जिसमें चीन और अमेरिका भी शामिल होंगे। इस तरह से अमेरिकी उपाय वैश्विक आपूर्ति और मूल्य श्रंखला पर हमला कर रहे हैं। साधारण रूप से कहा जाए तो ऐसा करके अमेरिका पूरी दुनिया के साथ खुद पर भी गोली चलाने की कोशिश कर रहा है लेकिन चीन इस खतरे और ब्लेकमेलिंग के आगे झुकेगा नहीं।

 

विदेशी कंपनियों के कानूनी अधिकारों की रक्षा करेगा चीन

चीनी वाणिज्य मंत्रालय के प्रवक्ता गाओ फेंग ने कहा कि हमारी सरकार देश की सभी विदेशी कंपनियों के कानूनी अधिकारों की रक्षा करेगी। उन्होंने कहा कि हम अमेरिका द्वारा शुरू किए गए ट्रेड वॉर के संभावित असर का आकलन करते हुए कंपनियों पर उसके संभावित झटके को कम करने में मदद करेंगे।

उन्होंने दावा किया कि इस व्यापार युद्ध में चीन में विदेशी निवेशकों के निवेश करने से डरने के बावजूद देश का विदेश व्यापार दूसरे छमाही में स्थिर रहने की उम्मीद है। गाओ ने दोहराया कि चीनी निर्यात पर अमेरिकी टैरिफ से चीन और विदेशी दोनों कंपनियों को नुकसान होगा।

https://www.therisingnews.com/?utm_medium=thepizzaking_notification&utm_source=web&utm_campaign=web_thepizzaking&notification_source=thepizzaking

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement