Crowd Rucuks At Sapna Chaudhary Program in Begusaray of Bihar

दि राइजिंग न्यूज़

इंटरनेशनल डेस्क।

 

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की दिवंगत पत्नी कुलसुम नवाज को लाहौर में शरीफ परिवार के पैतृक गांव “जाती उमरा” में शुक्रवार को सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया। उन्हें नवाज शरीफ के पिता मियां शरीफ की कब्र के समीप दफनाया गया। डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, शरीफ मेडिकल सिटी में शुक्रवार शाम को लगभग साढ़े पांच बजे मौलाना तारिक जमील की अगुवाई में नमाज-ए-जनाजा पढ़ी गई। इसमें नवाज शरीफ, उनके छोटे भाई शहबाज शरीफ के अलावा पीएमएल-एन के हजारों समर्थक शामिल हुए। इस दौरान पूर्व राष्ट्रपति ममनून हुसैन, पूर्व कानून मंत्री सनाउल्लाह, पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी समेत कई दिग्गज नेता मौजूद रहे। 

 

बता दें कि लंबे समय तक कैंसर से लड़ने के बाद कुलसुम नवाज (68) का मंगलवार को लंदन के एक अस्पताल में निधन हो गया था। उनका पार्थिव शरीर पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के विमान से शुक्रवार सुबह करीब पौने सात बजे लंदन से लाहौर पहुंचा था। नवाज शरीफ के छोटे भाई शहबाज शरीफ, कुलसुम की बेटी आस्मा, उनके पोते जायद हुसैन शरीफ सहित परिवार के 11 सदस्य उनके पार्थिव शरीर के साथ थे। 

रविवार को होगी रस्म-ए-कुल

पीएमएल-एन की प्रवक्ता मरियम औरंगजेब ने बताया कि कुलसुम के लिए रस्म-ए-कुल (सामूहिक प्रार्थना) रविवार को अस्र और मगरिब के बीच अदा की जाएगी। शरीफ, उनकी बेटी मरियम, उनके दामाद एम. सफदर को अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए पैरोल पर रिहा किया गया है।

 

लोगों ने “लोकतंत्र की मां को सलाम” के नारे लगाए

इससे पहले, हजारों लोगों ने लंदन की रीजेंट पार्क मस्जिद में कुलसुम के जनाजे की नमाज पढ़ी। उन्होंने लोकतंत्र की मां को सलाम के नारे लगाए। नमाज-ए-जनाजा के दौरान कुलसुम के बेटे हसन और हुसैन, शहबाज शरीफ, पूर्व मंत्री चौधरी निसार और इशाक डार मौजूद थे।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement