Crowd Rucuks At Sapna Chaudhary Program in Begusaray of Bihar

दि राइजिंग न्यूज़

इंटरनेशनल डेस्क।

 

जापान के दक्षिणी इलाकों में लगातार तीसरे दिन मूसलाधार बारिश ने प्रशासन की परेशानियों को और बढ़ा दिया है। वहीं जापान सरकार का कहना है कि यहां करीब 100 लोगों की मौत हो गई है। प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि यह हमारे लिए आपदा की घड़ी है। उन्होंने आपदा की इस घड़ी को “समय के साथ जंग” बताया क्योंकि हर गुजरते मिनट के साथ परेशानियां बढ़ती जा रही हैं। 

1976 के बाद सबसे अधिक बारिश: मौसम विभाग

भारी बारिश के बीच रविवार को क्यूशू और शिकोकू द्वीप के लिए नई आपदा चेतावनी जारी की गई है। प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा, “बचाव अभियान, लोगों की जान बचाना और पुनर्वास का कार्य समय के खिलाफ एक लड़ाई है।” उन्होंने कहा, “अब भी कई ऐसे लोग हैं जिनकी सुरक्षा सुनिश्चित की जानी बाकी है। हिरोशिमा के दक्षिणी क्षेत्र में 92 लोगों के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है।” जापान के मौसम विभाग के अनुसार कोचि क्षेत्र में 26.3 सेमी बारिश हो चुकी है। यह 1976 के बाद से यह सबसे अधिक है।

मौत का आंकड़ा बढ़ सकता है

सरकार के शीर्ष प्रवक्ता योशिदी सुगा ने कहा कि बारिश संबंधी घटनाओं में 87 लोगों की जान जा चुकी है, जबकि 13 लोगों का कुछ पता नहीं है। उन्होंने कहा कि अभी यह आंकड़ा और बढ़ सकता है। उन्होंने बताया कि बचाव के लिए 40 हेलिकॉप्टर लगे हुए हैं। यहां पर कुछ गांव पूरी तहह से डूब गए हैं  तो कुछ लोगों ने छत पर पनाह ली है। वहीं मूसलाधार बारिश और भूस्खलन हुआ के चलते अधिकारियों ने करीब 20 लाख लोगों को उनकी जगह से हटा दिया है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement