Home Entertainment News Kajol And Karan Johar Becomes Friends Again

शपथ ग्रहण समारोह में सोनिया, राहुल, ममता, मायावती, अख‍िलेश मौजूद

शपथ ग्रहण समारोह: अख‍िलेश यादव ने ममता बनर्जी के पैर छुए

कर्नाटक: शपथ लेने के बाद शाम 5:30 बजे KPCC जाएंगे जी परमेश्वर

शपथ ग्रहण समारोह: तेजस्वी यादव ने ममता बनर्जी के पैर छुए

शपथ ग्रहण समारोह: ममता बनर्जी ने सीएम कुमारस्वामी को गुलदस्ता भेंट क‍िया

कायम है काजोल-करण की दोस्‍ती…चौंक गया बी-टाउन

Entertainment | Last Updated : Sep 16, 2017 04:06 PM IST


Kajol and Karan Johar Becomes Friends again


दि राइजिंग न्‍यूज

एंटरटेनमेंट डेस्‍क।

एक जमाने में दोस्‍ती की मिसाल कायम करने वाले करण जौहर और काजोल का यूं अलग हो जाना किसी को भी नहीं भाया था। दोनों की मित्रता टूट जाने से केवल बी-टाउन ही नहीं बल्कि उनके फैंस में भी निराशा छा गई थी। लेकिन कहते हैं न कि बॉलीवुड में ना दोस्ती ना दुश्मनी कोई भी चीज स्थायी नहीं होती, कुछ ऐसा ही हुआ दोनों के साथ। अब दोनों फिर से साथ हैं। लेकिन इसका श्रेय किसको जाता है। कौन है जिसने दोनों की फिर से मित्रता कराई। आइए जानते हैं उनकी दोस्‍ती का ए टू जेड।

काजोल और करण जौहर की दोस्ती से दुश्मनी और फिर दुश्मनी से वापस दोस्ती के सफर से अब हर कोई वाकिफ है। काजोल और करण ने कई सारी हिट फिल्मों में साथ में काम किया है। जब करण ने बतौर निर्देशक अपने करियर की शुरुआत की तब उनकी फिल्म कुछ कुछ होता है में उन्होंने काजोल को ही लीड एक्ट्रेस चुना था। इसके अलावा उन्होंने करण की फिल्म कभी खुशी कभी गम में भी भूमिका निभाकर सभी का दिल जीता था। यहां तक कि करण काजोल को अपना लकी मैस्कॉट मानते थे।

एक समय था जब ये दोनों बेस्ट फ्रेंड्स हर जगह साथ दिखाई देते थे। बॉलीवुड के इवेंट्स हो या फिर प्राइवेट पार्टीज, करण और काजोल हमेशा अच्छे दोस्त की तरह एक दूसरे का साथ निभाते हुए दिखते। लेकिन ऐ दिल है मुश्किल और शिवाय के रिलीज के वक्त काजोल ने अपने पति अजय देवगन का साथ क्या दिया जैसे काजोल और करण के बीच तल्खियां बढ़ती गई। इसके बाद ये दोनों लगातार एक दूसरे से दूर ही होते गए। पूरी इंडस्ट्री और इनके फैंस को ये लगने लगा कि अब ये दोनों फिर कभी दोस्त नहीं बन पाएंगे।

कुछ ही समय पहले एक इंटरव्यू में काजोल ने यहां तक कह दिया कि वो करण के साथ अब काम करना पसंद नहीं करेंगी और जिस तरह से करण जौहर ने इस लड़ाई के बाद बयान दिए कि अब से उनका काजोल के साथ कोई लेना देना नहीं है उसके बाद तो हर कोई हैरान ही रह गया। इससे इस बात का अंदाजा लगाया जा रहा था कि करण और काजोल की दोस्ती लगभग खत्म हो गई है।

इसके बाद फिर अचानक दोनों ने सोशल मीडिया पर एक दूसरे को फॉलो करके सबको चौंका दिया। फिर अपने बर्थडे पार्टी में करण को इन्वाइट कर काजोल ने तो सुर्खियां बना दी थीं। इसके बाद सभी ये सोचने पर मजबूर हो गए कि आखिर काजोल-करण का हृदय परिवर्तन कैसे हो गया? तो आज हम आपको बताएंगे कि आखिर किस वजह से काजोल और करण फिर से दोस्त बनने को तैयार हुए? आपको बता दें कि इन दोनों के इस पैचअप के पीछे कोई और नहीं बल्कि काजोल की मां तनुजा जी हैं। उनके ही कहने पर दोनों ने एक बार फिर से हाथ मिलाया है।

सूत्रों के मुताबिक, काजोल ने अपना जन्मदिन मनाने के लिए मां तनुजा के कहने पर ही करण जौहर को भी बुलाया था। बताया जा रहा है कि करण जौहर को उस पार्टी में खुद काजोल की मां तनुजा ने बुलाया था और काजोल को भी करण से दोस्ती करने के लिए उन्होंने ही मनाया था। तनूजा चाहती थीं कि करण और काजोल साड़ी तल्खियों को भूलते हुए फिर से पहले जैसे दोस्त बन जाएं। बताया जाता है कि इस पार्टी में जब काजोल और करण गले मिले तो सभी इमोशनल हो गए। वैसे अब इन दोनों के रिश्ते में फिर पहले जैसा हो गया है और उम्मीद यहीं करेंगे कि अब इनका ये दोस्ताना सलामत रहे।



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...