Film on Pulwama Attack in Bollywood

दि राइजिंग न्यूज़

एंटरटेनमेंट डेस्क।

Mr. Perfectionist बनने के लिए आमिर खान ने अपने कैरियर में जी तोड़ मेहनत की है। इस कठिन सफर में उनके जीवन में उतार-चढ़ाव बने ही रहे। आमिर कई बार खुद इस बात को स्‍वीकार कर चुके हैं कि पत्‍नी किरण जब से उनकी जिंदगी में आई हैं तब से सब कुछ बहुत अच्‍छा है। आमिर खान का आज 53वां जन्‍मदिन है। 1965 को आज ही के दिन उनका जन्‍म मुंबई में हुआ था। फिल्म “कयामत से कयामत तक” से बतौर एक्टर अपने फिल्मी करियर की शुरुआत करने वाले आमिर खान के असंख्‍य फैंस हैं। इस सुपरस्‍टार की कुछ खास बातें जानते हैं-

लगान ने सब बदल दिया

फिल्म “लगान” ने आमिर की पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ दोनों बदल दी थी। इसी फिल्म की शूटिंग के दौरान आमिर और किरण की पहली मुलाकात हुई थी। किरण राव आमिर की हर फिल्म में उनके साथ नजर आती हैं। किरण, आमिर को फिल्म की कहानी चुनने में भी मदद करती हैं। आमिर और किरण की पहली मुलाकात साल 2000 में फिल्म “लगान” के सेट पर हुई थी। आमिर शादीशुदा थे लेकिन किरण पर उनका दिल आ गया था। इस फिल्म में किरण, शामिन देसाई की असिस्टेंट थीं। किरण भी आमिर को चाहने लगी थीं, साल 2002 में आमिर ने अपनी पहली पत्नी रीना दत्ता को तलाक दे दिया।

अवॉर्ड शो में ना जाने के पीछे है दिलचस्प वजह

वैसे तो आपने बॉलीवुड के अवॉर्ड फंक्शन में शाहरुख खान से लेकर सलमान खान तक कई स्टार्स को देखा होगा, लेकिन आमिर खान एकमात्र ऐसे स्टार हैं जो कभी भी अवॉर्ड शो में नजर नहीं आते हैं। आपको बताते हैं कि आखिर आमिर अवॉर्ड शो में क्यों नहीं जाते हैं जबकि वे 17 बार फिल्मफेयर के लिए नॉमिनेट हो चुके हैं।

 

बात 1990 की है, इस दौरान आमिर खान की फिल्म “दिल” रिलीज हुई थी और सनी देओल की “घायल”। आमिर को उम्मीद थी कि उन्हें फिल्म “दिल” के लिए फिल्मफेयर बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड मिलेगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं और आमिर की जगह सनी देओल को फिल्म “घायल” के बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड मिल गया। आमिर इस बात से बेहद नाराज हुए और उन्होंने कसम खाई कि आगे से वे किसी भी अवॉर्ड शो में नहीं जाएंगे।

विवादों से भी रहा है नाता

पद्म श्री और पद्म भूषण से सम्मानित किए जा चुके आमिर खान ने 1984 केतन मेहता की फिल्म “होली” से बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत की थी। हालांकि उन्हें पहचान साल 1988 में आई फिल्म “कयामत से कयामत तक” से मिली। यूं तो आमिर हमेशा ही विवादों से दूर रहना पसंद करते हैं लेकिन कहते हैं न कि स्टार्स और विवादों का तो चोली दामन जैसा साथ होता है।

 

आमिर खान को सबसे ज्यादा विवादों में घिरा उस वक्त पाया गया जब उन्होंने देश में बढ़ रही इनटोलेरेंस के बारे में अपने विचार रखे थे। उस दौरान आमिर ने कहा था कि देश में मौजूद हालातों से उनकी पत्नी बेहद चिंतित हैं। उन्होंने कहा था “मैं जब घर पर किरण के साथ बात करता हूं, वह कहती हैं कि क्या हमें भारत से बाहर चले जाना चाहिए? किरण का यह बयान देना एक दुखद एवं बड़ा बयान है। उन्हें अपने बच्चे की चिंता है। उन्हें भय है कि हमारे आसपास कैसा माहौल होगा। उन्हें प्रतिदिन समाचारपत्र खोलने में डर लगता है।” आमिर के इस बयान को लेकर उन्हें तीखी प्रतियाक्रियाओं का सामना करना पड़ा था।

साल 2014 में आई फिल्म “पीके” को लेकर भी आमिर खान को विवादों और आलोचनाओँ का सामना करना पड़ा था। आमिर खान पर फिल्म में समुदाय विशेष की धार्मिक भावनाओं को आहत पहुंचाने और उस पर टीका टिप्पणी करने को लेकर लोगों का गुस्सा फूटा था। हालांकि फिल्म रिलीज होने के बाद उन सभी विवादों पर पूर्ण विराम लग गया था।

 

आमिर खान हमेशा से ही सामाजिक मुद्दों पर न सिर्फ खुलकर बात करते हैं बल्कि वो इसके लिए काम भी करते हैं। हालांकि वो बहुत ज्यादा मीडिया में शोर नहीं करते। आमिर शायद बॉलीवुड के पहले ऐसे अभिनेता होंगे जो किसी आंदोलन का सशक्त हिस्सा बने होंगे। साल 2006 में आमिर खान ने नर्मदा बचाओ आंदोलन कमिटी को अपना खुला समर्थन दिया था और आंदोलन में हिस्सा लेने पहुंचे थे। उस वक्त उनके इस समर्थन को लेकर उन्हें जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा था।

 

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement