Home Entertainment News Game Of Ayodhya Movie Controversy

J&K: दक्षिण कश्मीर और जम्मू के कई इलाकों में भारी बर्फबारी

फीस पर निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए AAP विधायकों की बैठक

उदयपुर: शंभूलाल के समर्थक हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर किया पथराव

नीतीश को तेजस्वी का चैलेंज, विकास किया है तो दिखाएं रिपोर्ट

आधार मामले पर सुप्रीम कोर्ट कल सुनाएगा फैसला

“पद्मावती” के बाद अब “गेम ऑफ़ अयोध्या” पर बवाल

Entertainment | 30-Nov-2017 12:15:25 | Posted by - Admin
   
Game of Ayodhya Movie Controversy

दि राइजिंग न्यूज़

एंटरटेनमेंट डेस्क।

 

पद्मावती विवाद अभी ख़त्म भी नहीं हुआ था कि अब “गेम ऑफ अयोध्या” मूवी को लेकर हडकंप मच गया है। अलीगढ़ में ABVP कार्यकर्ता अमित गोस्वामी ने 'गेम ऑफ अयोध्या' फिल्म के डायरेक्टर की बांह काटने वाले को 1 लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की है।

फिल्म लोक दल के फॉर्मर एमएलसी सुनील सिंह ने बनाई है। गेम ऑफ अयोध्या, 8 दिसंबर को रिलीज होनी है। फिल्म की रिलीज पर सेंसर बोर्ड ने रोक लगाई थी, लेकिन इसे फिल्म प्रमाणन अपीलीय ट्रिब्यूनल ने मंजूरी दे दी है। फिल्म बाबरी मस्जिद कांड की पृष्ठभूमि पर बनाई गई है। इसमें हिंदू-मुस्लिम की प्रेम कहानी भी दिखाई गई है।

अमित गोस्वामी का कहना है कि सुनील सिंह सस्ती लोकप्रियता के लिए यह सब कर रहे हैं। फिल्म में गलत दृश्य दिखाए गए हैं। इसमें दिखाया गया है कि हिंदुओं ने छल से भगवान राम की मूर्ति मंदिर में स्थापित की थी।

उसने कहा कि जो निर्देशक की बांह काटकर लाएगा, उसे वह 1 लाख रुपये का इनाम देंगे। हमारा लोकतांत्रिक कानून किसी को भी यह अधिकार नहीं देता कि वह किसी भी धर्म की भावनाओं के साथ खिलवाड़ करे।

 

हिंदुओं की भावना आहत

अगर फिल्म सिनेमा हॉल में रिलीज हुई और कोई घटना होती है तो प्रशासन और सरकार खुद इसके जिम्मेदार होंगे। यूपी सरकार को फिल्म की रिलीज पर फिर से विचार करना चाहिए। अगर फिल्म अलीगढ़ में रिलीज हुई तो वहां के युवा नेता और छात्र इसका विरोध करेंगे। अमित ने कहा कि अगर सुनील सिंह उन्हें कहीं नजर आ गया तो वह उसे मार डालेंगे। वह हमारी भावनाओं को ठेस पहुंचा रहे हैं।

अलीगढ़ जिले के एसएसपी राजेश पाण्डेय ने बताया कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने पहले से ही फिल्म रिलीज के दौरान जिले में हाई अलर्ट जारी कर दिया है। फिल्म 'गेम ऑफ अयोध्या' लिब्रहान कमीशन की रिपोर्ट पर आधारित है।

फिल्म में अयोध्या विवाद से संबंधित साल 1992 के विडियो फुटेज और दस्तावेजों का भी प्रयोग किया गया है। 1992 में हुए दंगों से पहले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री लालकृष्ण आडवाणी समेत तमाम उस दौर के हिंदूवादी नेताओं के भाषण के विडियो फुटेज के साथ ही उस दौरान ली गई तस्वीरों का भी मूवी में जिक्र है।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news




sex education news