Disha Patani Look Revealed in Bharat

दि राइजिंग न्यूज़

एंटरटेनमेंट डेस्क।

अरुणाचलम मुरुगनंथम की सच्ची कहानी पर आधारित फिल्म “पैडमैन” के जरिए निर्देशक आर. बाल्की और अक्षय कुमार ने मेंस्ट्रुअल हाइजीन के प्रति लोगों को जागरूक करने की दमदार पहल की है। बात फ़िल्म की कहानी की करें तो इसे ट्व‍िंकल खन्‍ना की किताब “The Legend of Lakshmi Prasad” से लिया गया है। हालांकि फ़िल्म की प्रमोशन में रियल पैडमैन अरुणाचलम मुरुगनंतम भी अक्षय कुमार के साथ लगातर नजर आते रहे।

अक्षय कुमार की फिल्म “पैडमैन” आज यानी 9 फरवरी को रिलीज हो चुकी है। फिल्म में अक्षय कुमार के अलावा सोनम कपूर, राधिका आप्टे और अमिताभ बच्चन भी हैं। फिल्म की कहानी तमिलनाडु के एक सोशल एक्टिविस्ट अरुणचलम मुरुग्नंथम के जीवन से प्रेरित है। मुरुग्नंथम ने महिलाओं के लिए कम लागत वाले सैनिटरी पैड बनाने की मशीन का आविष्कार किया था, ये कहानी उनके जीवन पर आधारित है। फिल्म में अक्षय मुरुग्नंथम का ही किरदार निभा रहे हैं।

पैडमैन की ख़ास बात ये है कि इसके निर्देशक आर. बाल्की ने इसकी कहानी अच्छे से पर्दे पर उतारा है। पैडमैन की कहानी की रफ़्तार अच्छी है खास तौर से दूसरे भाग में। फिल्म पैडमैन के द्वारा इस बात पर बार-बार ज़ोर दिया गया है कि इस टॉपिक पर महिलाएं बात तक नहीं करती और बीमारी से डरने के बजाए शर्म से पानी-पानी होती हैं। इसके अलावा महिला सशक्तिकरण और महिलाओं के रोजगार को भी फ़िल्म छूती है। फिल्म के जरिए अक्षय कुमार ने एक बार फिर अच्छा विषय चुना है और अच्छा अभिनय किया है।

फ़िल्म की खामियों की अगर बात करें तो सबसे पहले है इसकी लंबाई, जो थोड़ी और कम हो सकती थी। फ़िल्म का पहला हिस्सा ख़ास तौर से थोड़ा लंबा लगता है। कुछ मिलाकर पैडमैन एक अच्छी सोशल इशू वाली फिल्म है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll