Actress katrina Kaif and Mouni Roy Visited Durga Puja Pandal

दि राइजिंग न्यूज़

एंटरटेनमेंट डेस्क।

 

आज से तकरीबन 36 साल पहले सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के एक दर्दनाक हादसा हुआ था। दरअसल, बिग बी 26 जुलाई 1982 को बेंगलुरु में “कुली” फिल्म का एक फाइट सीन शूट कर रहे थे। एक्शन डायरेक्टर के कहने पर पुनीत इस्सर को अमिताभ के मुंह पर घूंसा मारना था और उन्हें टेबल के ऊपर गिरना था। अमिताभ सीन में रियलटी चाहते थे, इसलिए उन्होंने खुद ही यह सीन करने का फैसला किया।

 

आज तक दर्द देती है वो चोट

शॉट ओके हुआ और लोग तालियां बजाने लगे। अमिताभ के चेहरे पर भी मुस्कराहट थी, लेकिन तभी उन्हें पेट में हल्का दर्द हुआ। दरअसल, टेबल का एक कोना उनके पेट में चुभ गया था। शुरू में तो ये चोट मामूली लगी लेकिन दो दिन बाद इतनी घातक निकली जो उन्हें आज तक दर्द देती है।

डॉक्टर्स ने दी पेन किलर

बिग बी को दर्द हो रहा था और वे जानते थे कि उन्हें चोट लगी है लेकिन खून की एक बूंद भी नहीं निकली। इसलिए बिगबी और फिल्म के कास्ट-क्रू मेंबर्स ने इसे मामूली चोट समझा। उनके पेट पर दो बार मलहम लगाया गया। जब आराम नहीं लगा तब अमिताभ होटल वेस्टएंड चले गए। दर्द कम नहीं हुआ तो डॉक्टर को बुलाया गया। उन्होंने भी यही कहा कि कोई गहरी चोट नहीं है। डॉक्टर्स पेन किलर दवाएं देकर चले गए ताकि वे आराम से सो सकें।

 

पर्सनल फिजिशियन हुए थे नाराज़

हादसे के अगले दिन जब दर्द में कोई कमी नहीं हुई तब उनके पर्सनल फिजिशियन डॉ. केएम. शाह को बुलाया गया। शाह उनकी हालत देख बेहद नाराज हुए। तुरंत उन्हें बेंगलुरु के सेंट फिलोमेना हॉस्पिटल में एडमिट किया गया। एक्स-रे किया गया, लेकिन इसमें भी किसी तरह की सीरियस इंजरी डॉक्टर्स को समझ नहीं आई। हालांकि, मेडिकल एक्सपर्ट्स ने कहा कि बिगबी के कुछ टेस्ट्स और किए जाने चाहिए।

दर्द की वजह

तीसरे दिन भी उनकी हालत में कोई सुधार नहीं आया। फिर डॉक्टर्स ने एक्सरे को बारीकी से चेक किया तो डायफ्राम के नीचे गैस दिखाई दे रही थी, जो टूटी हुई आंत से ही आ सकती थी।

 

कोमा में चले गए थे बच्चन

चौथे दिन दिन अमिताभ की स्थिति और बिगड़ गई। यूनिट के कई बार आग्रह करने के बाद वेल्लोर के जाने-माने सर्जन एचएस भट्‌ट, अमिताभ का केस देखने को तैयार हुए। रिपोर्ट देखते ही डॉ. भट्‌ट ने कहा- तुरंत ऑपरेशन करना पड़ेगा क्योंकि इन्फेक्शन बिगबी की बॉडी में फैल चुका है। अमिताभ को तेज बुखार हो गया था और वे बार-बार उलटी भी कर रहे थे। दोपहर में उनकी हालत ज्यादा बिगड़ गई। उनकी धड़कन एक मिनट में 72 की जगह 180 की स्पीड से चलने लगी और वे कोमा में चले गए थे।

सर्जरी के बाद हैरान थे डॉक्टर

डॉक्टर्स ने ऑपरेशन शुरू किया। उन्होंने बिग बी का पेट चीरकर देखा तो हैरान रह गए। अमिताभ के पेट की झिल्ली (जो पेट के अंगो को जोड़े रखती है और कैमिकल्स से उन्हें बचाती है) फट चुकी थी। छोटी आंत भी फट गई थी। इस स्थिति में किसी का भी 3 से 4 घंटे जिंदा रहना भी मुश्किल होता है। अमिताभ 3 दिन तक इस कंडीशन से गुजरे। डॉक्टर्स ने पेट की सफाई की, आंत सिली। उस वक्त अमिताभ को पहले से ही कई बीमारियां (अस्थमा, पीलिया के कारण एक किडनी भी खराब हो चुकी थी, डायबिटीज) थीं। ऐसे में वे इतने दिन इस प्रॉब्लम से कैसे लड़े, ये किसी आश्चर्य से कम नहीं था।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement