Actress katrina Kaif and Mouni Roy Visited Durga Puja Pandal

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

शुक्रवार को केंद्र ने स्‍मार्ट सिटी के लिए नौ नए शहरों की घोषणा कर दी है। इसमें यूपी के तीन शहर सहारनपुर, बरेली और मुरादाबाद को स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट में शामिल किया गया है।

अब स्‍मार्ट सिटीज की संख्‍या बढ़कर 99 हो गई है। 20 शहरों के बीच कराए गए कॉम्पिटीशन में नौ शहरों को सलेक्ट किया गया है। इससे पहले की लिस्ट में अलीगढ़, झांसी और इलाहाबाद का नाम था।

 

 

ये हैं चुने गए नौ शहर-

  • बरेली

  • मुरादाबाद

  • सहारनपुर

  • बिहार का बिहार शरीफ

  • अरुणाचल प्रदेश का इटानगर

  • तमिलनाडु के सिलवासा और इरोड

  • दमन दीव

  • लक्षद्वीप का कवारती

 

पिछली बार नहीं शामिल हुआ था बरेली

क्वालिटी ऑफ लाइफ के तहत सेफ्टी, इंफ्रास्ट्रक्चर, बिजली- पानी, एजुकेशन, किफायती आवासीय सुविधा व एजुकेशन समेत रोजगार के मुद्दों पर बरेली मानकों पर खरा नहीं उतरा।

केन्द्र सरकार के पोर्टल पर स्मार्ट सिटी चुने गए शहरों के लिए पब्लिक पोलिंग, डिबेट और निबंध लेखन की व्यवस्था की गई। इसके लिए जनता को अपने शहर को स्मार्ट बनाने के सुझाव देना था।

साफ-सफाई की व्यवस्था बरेली में फेल मिली। प्रोजेक्ट बनाने को अहमदाबाद की कंपनी को सुझाव नहीं मिल रहे थे। नगर निगम के अफसरों ने गंभीरता नहीं दिखाई थी।

 

 

इन नौ शहरों में 409 प्रोजेक्‍ट्स पर लगभग 12824 करोड़ रुपए का इन्‍वेस्‍टमेंट किया जाएगा। अब तक सलेक्ट किए गए 99 स्‍मार्ट सिटीज पर दो लाख तीन हजार 979 करोड़ रुपए का इन्‍वेस्‍टमेंट किया जाएगा। यह दावा हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स मिनिस्‍टर हरदीप पुरी ने किया है।

 

स्मार्ट सिटी बनाने के लिए इन बातों का ध्यान रखा

स्वच्छता एप को अधिक से अधिक लोग डाउनलोड करें। इसके लिए व्यापक प्रचार प्रसार किया गया। मोबाइल पर एसएमएस भेजकर जागरुकता फैलाई गई।

निगम के 2200 कर्मचारियों की छुट्टियां 27 जनवरी तक रद्द कर साफ सफाई के काम पर लगाया गया। 8-8 घंटे की कर्मचारियों की तीन शिफ्ट लगाई गई।

शहर में हर कदम पर गीले और सूखे कचरे के लिए अलग-अलग 1100 डस्टबिन रखा गया। नगर निगम की टीमों ने इसके लिए लोगों को जागरुक किया। इसके लिए सफाई नायकों निगरानी में दो दर्जन टीम गठित की गई।

जागरुकता के लिए एक गाना भी फिल्माया गया, जिसे लोगों ने खूब पसंद किया। चंडीगड़, इंदौर और गुजरात के कई शहरों से सीख लेकर काम किया गया।

शहर के लोगों का योगदान दिया

नगर आयुक्त राजेश श्रीवास्तव ने कहा, बरेली को स्मार्ट सिटी में लाने में शहर के लोगों का बहुत योगदान रहा है। कर्मचारियों ने छुट्टियां कैंसिल होने पर विरोध नहीं किया। यह जी जान से अपने काम में जुटे गए। तब जाकर बरेली स्मार्ट सिटी की लिस्ट में शामिल हो पाया।

इन फैसिलिटीज से लैस होंगी स्मार्ट सिटी

  • वर्ल्‍ड क्‍लास ट्रांसपोर्ट सिस्टम।

  • 24 घंटे बिजली-पानी की सप्लाई।

  • सरकारी कामों के लिए सिंगल विंडो सिस्टम।

  • एक जगह से दूसरे जगह तक 45 मिनट में जाने की व्यवस्था।

  • स्मार्ट एजुकेशन।

  • एन्वायरन्मेंट फ्रेंडली।

  • बेहतर सिक्युरिटी और एंटरटेनमेंट की सुविधा।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement