Kedarnath Crosses Rs 50 Crore Mark at Box Office

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

 

देश के बड़े व्‍यापारियों को फर्जी मंत्री और सचिवालय अधिकारियों से मिलाकर करोड़ों की ठगी करने वाले मास्‍टर माइंड जालसाज अभिषेक निगम उर्फ नीटू यादव का सक्रिय सदस्य राहुल उर्फ राम शुक्‍ला को पुलिस ने परिवर्तन चौक से गिरफ्तार करते हुए जेल भेज दिया। आरोपी बुधवार की रात अपने किसी साथी से मिलने आया था। इसी दौरान मुखबिर की सूचना पर केडी सिंह स्‍टेडियम चौकी इंचार्ज संतोष कुमार तिवारी ने उसे गिरफ्तार कर लिया।  

उल्‍लेखनीय है कि आठ जनवरी 2017 को मास्‍टरमाइंड को गिरफ्तार किया गया था तभी से राहुल की खोजबीन की जा रही थी। हालांकि अभी भी दो महिलाओं सहित पांच आरोपियों फरार हैं। इंस्‍पेक्‍टर आनंद कुमार शाही ने बताया कि अन्‍य आरोपियों की तलाश की जा रही है। जल्‍द ही वह भी गिरफ्तार होंगे।

33बी 24 परगना पश्चिम बंगाल के रहने वाले चमड़ा व्‍यापारी सरफराज आलम से फर्जी दस्‍तावेज के जरिए 46 लाख रुपये हड़पने का मुकदमा हजरतगंज में दर्ज कराया था। पीड़ित ने अर्जुन नगर आलमबाग के रहने वाले दुर्गेश शुक्‍ला उर्फ राहुल उर्फ राम शुक्‍ला को आरोपी बनाया था। आरोपी ने बताया कि वह अपने दोस्‍तों के सहारे चमड़े के व्‍यापारी के पास पहुंचा। उसने सरफराज से खुद को सचिवालय अधिकारी बताया और सरकारी स्‍कूलों में बैग का काम दिलाने की बात कही। इसके लिए उसने अपना हिस्‍सा भी मांगा।

सरफराज को उसके ऊपर विश्‍वास हो जाए इसके लिए उसने प्रमुख सचिव बेसिक के नाम पर 52 हजार रुपये का डिमांड ड्राफ्ट भी बनवाया और 15 लाख रुपये लेकर लखनऊ आने को कहा।

सरफराज दिए गए समय पर लखनऊ आया तो उसे महंगे होटल में ठहराया गया था। फिर सचिवालय का पास दिखा कर विधानभवन के कई बिल्डिंगों में ले गया। माल की गुणवत्‍ता जांचने के लिए सरकारी टीम जाने की बात कहकर चार लोगों के हवाई टिकट भी बनवा लिए। इन चार लोगों में हरिशंकर, विवेक सिन्‍हा, महमूद अली सहित चार लोग कोलकाता गए। जांच में स्‍कूल बैग को पास करते हुए यहां से चार लाख रुपये का आरटीजीएस राम शुक्‍ल के खाते में कराया गया। इसके बाद राम शुक्‍ल की टीम ने बैग को आपूर्ति कराने वाला फर्जी सरकारी पेपर सरफराज को दिया।

इतना ही नहीं आरोपी ने 17 लाख आरटीजीएस से, पांच लाख रुपए नगद की और धनराशि ली। सरफराज अपने दोस्‍तों के साथ लखनऊ आया तो आरोपी ने उसे सिलवेट होटल में ठहराया। यहां से उसने सचिवालय में ले जाकर फर्जी मंत्री अभिषेक निगम से मिलवाया। करोड़ों रुपये के लेनदेन के बाद जब पीड़ित को पता चला कि वह ठगी का शिकार हो गया है तब उसने राम शुक्‍ला के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस कोलकाता जाने वाले साजी सिद्दीकी, हरिशंकर, विवेक सिन्‍हा, महमूद अली आदि की खोजबीन कर रही है। 

कभी दोना-पत्‍तल बेचाता था मास्‍टरमांइड-

आठ जनवरी 2017 को गिरफ्तार हुआ मास्‍टर माइंड अभिषेक निगम उर्फ नीटू यादव बाजारखाला थाना क्षेत्र के टिकैतराय तालाब का रहने वाला था। अमीनाबाद के गड़बड़ झाला बाजार में उसकी दोना-पत्तल की दुकान थी। इसी बीच उसे कम समय में करोड़ों रुपये कमाने का भूत सवार हुआ वह जालसाजी पर उतर आया। इसके लिए वह कमांडो की वर्दी में निजी गनर लेकर लालबत्ती लगा खुद को राज्‍य मंत्री बताने लगा।

व्‍यापारियों को ठगने के लिए कभी कैबिनेट मंत्री तो कभी मंत्री का पीआरओ बनकर फोन करता और व्‍यापारियों से करोड़ों की जालसाजी करने लगा। दिल्‍ली, कोलकाता सहित देश के कई जगहों पर बड़े व्‍यापारियों को इसने अपना शिकार बनाया था। उस समय पुलिस को इसके कई साथियों की तलाश थी। आरोपी निगम के ऊपर कई थानों में दर्जनों मुकदमें दर्ज हैं।

https://www.therisingnews.com/?utm_medium=thepizzaking_notification&utm_source=web&utm_campaign=web_thepizzaking&notification_source=thepizzaking

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement