Ali Asgar Faced Molestation in The Getup of Dadi

दि राइजिंग न्‍यूज

लखनऊ।

बागपत के पूर्व ब्‍लॉक प्रमुख सतवीर सिंह उर्फ सतवीर पहलवान की संदिग्‍ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मंगलवार को वह हजरतगंज के रॉयल कैफे होटल में आए हुए थे। यहां पर अचानक तबियत बिगड़ने पर उन्‍हें ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया। उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। पुलिस ने पूर्व प्रमुख के शव को पोस्‍टमॉर्टम के लिए भेजते हुए जांच शुरू कर दी है। 

नई दिल्‍ली के न्‍यू सहदरा क्षेत्र में रहने वाले बागपत जिले के पूर्व ब्‍लॉक प्रमुख सतवीर सिंह राजधानी आए हुए थे। जानकारी के अनुसार मलिहाबाद में वह अपने फॉर्म हाउस आए हुए थे। मंगलवार की रात वह किसी से मिलने की बात कह कर रॉयल कैफे होटल पहुंचे। यहां पर पूर्व प्रमुख कमरा नंबर 322 में ठहरे थे। देर रात अचानक उनकी तबियत बिगड़ गई और उन्‍हें ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया। इसके बाद उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। क्षेत्राधिकारी हजरतगंज अभय कुमार मिश्र ने बताया कि सतवीर सिंह की मौत की जांच की जा रही है। फिलहाल अभी तक कोई ऐसा साक्ष्‍य नहीं मिला है जिससे किसी भी परिणाम पर पहुंचा जा सके। हालांकि सभी बिदुंओं को ध्‍यान में रखते हुए पड़ताल जारी है। मृतक के विसरा को सुरक्षित किया गया है। रिपोर्ट आने के बाद मामला साफ हो पाएगा।

बंथरा में युवती की संदिग्‍ध मौत-

बंथरा थाना क्षेत्र में एक 22 वर्षीया युवती की संदिग्‍ध मौत के बाद पुलिस ने शव को पोस्‍टमॉर्टम के लिए भेज दिया। थाना क्षेत्र और मोहनलालगंज सीमा पर स्थित खटोला से बिजनौर जाने वाले मार्ग पर युवती का खून से लथपथ शव मिला। घटना की जानकारी होते ही आसपास हड़कंप मच गया। खटोला ग्राम प्रधान ने पुलिस को तहरीर दी कि किसी युवती का क्षत-विक्षत शव सड़क के किनारे पड़ा है। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव की शिनाख्‍त कराने का प्रयास किया लेकिन सफलता नहीं मिली। घटना स्‍थल से फिंगर-प्रिंट और अन्‍य साक्ष्‍यों को एकत्रित करते हुए शव को पोस्‍टमॉर्टम के लिए भेजते हुए पुलिस जांच कर रही है।

जानकीपुरम में लूट, पुलिस का इनकार-

जानकीपुरम थाना क्षेत्र में लूट हो गई जबकि इंस्‍पेक्‍टर घटना ना होने की दलील देते रहे। पीडि़त राम नारायण बाराबंकी का रहने वाला है। पीडि़त के अनुसार बुधवार की रात वह भिटौली क्रॉसिंग के किनारे सो रहा था। भोर में चार बजे के आसपास आधा दर्जन बोलोरो सवार लोगों ने उससे 54,800 रुपये लूट लिए। इतना ही नहीं जब उसने विरोध किया तो उसे मारा-पीटा भी। हालांकि जानकीपुरम पुलिस पूरे मामले को आरटीओ और ट्रक ड्राइवर का विवाद बताते हुए पल्‍ला झाड़ लिया।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement