Jacqueline Fernandez is Upset From Salman Khan

दि राइजिंग न्‍यूज

खेल डेस्‍क।

 

भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान सचिन तेंदुलकर को लॉर्ड्स स्टेडियम से निराश होकर लौटना पड़ा। टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच गुरुवार से शुरू हुए दूसरे टेस्ट के पहले दिन का खेल बारिश की भेंट चढ़ गया और इस वजह से पूरे दिन में एक भी गेंद नहीं फेंकी गई न ही टॉस हुआ। सचिन तेंदुलकर को लॉर्ड्स की घंटी बजाने के लिए आमंत्रित किया गया था, लेकिन खेल शुरू नहीं होने की वजह से उनके हाथ निराशा लगी।

ट्विटर पर लिखा ये

यह देखने को मिला कि तेंदुलकर ने मेंबर्स एंड पर धैर्यपूर्वक इंतजार किया और उम्मीद जताई कि थोड़ी देर के लिए सही, लेकिन खेल शुरू हो सके। मगर ऐसा संभव नहीं हुआ। तेंदुलकर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, दूसरे टेस्ट की शुरुआत से पहले घंटी बजाने के लिए पूरी तरह तैयार, लेकिन दुर्भाग्यवश मौसम की योजना अलग थी। उम्मीद है कि अगले चार दिनों में अच्छा क्रिकेट देखने को मिलेगा।

1990 में तेंदुलकर ने इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स पर पहला टेस्ट खेला था। 2010 में उन्हें मेरीलिबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) ने मानद सदस्य बनाया। लॉर्ड्स टेस्ट में घंटी बजाने की परंपरा का परिचय 2007 में हुआ, जिसे पूरा करते हैं अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट, प्रशासक या खेल के प्रति जुनूनी लोकप्रिय व्यक्ति।

तेंदुलकर की इच्छा रह गई अधूरी

तेंदुलकर पहली बार लॉर्ड्स पर घंटी बजाने वाले थे, लेकिन वह ऐसा नहीं कर पाएंगे क्योंकि शुक्रवार को वह भारत लौट रहे हैं। अब इंग्लैंड के पूर्व कप्तान टेड डेक्सटर इस परंपरा को पूरा करेंगे। वैसे, इंग्लैंड में 24 अगस्त 2013 के बाद यह पहला मौका है जब पूरे दिन का खेल बारिश की भेंट चढ़ा हो।

वहीं, लॉर्ड्स में 17 साल पहले किसी टेस्ट के पहले दिन का खेल बारिश के कारण धुला था। 2001 में इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच टेस्ट का पहला दिन बारिश की भेंट चढ़ा था।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll

Readers Opinion