• गिरफ्तारी देने पत्नी के साथ एसएसपी आवास पहुंचे आइपीएस अमिताभ ठाकुर
  • बलिया में बोलीं मायावती- सीएम उम्मीदवार घोषित करने में नाकाम रही BJP
  • रमजान से ज्‍यादा बिजली दिवाली पर दी - अखिलेश
  • गुजरात के राजकोट से दो ISIS आतंकियों को एटीएस ने किया गिरफ्तार, दोनों आतंकी सगे भाई
  • सिलीगुड़ी: सिवोक बाजार से 1 करोड़ का सोना जब्त, 2 लोग गिरफ्तार

Share On

एक्टिंग के प्रति दीवानगी मेरी मां ने बढ़ाई



 


दि राइजिंग न्‍यूज

जाफर ज़ैदी

आज मैं जो कुछ हूं अपने अभिभावकों के आशीर्वाद की बदौलत हूं। आगे बढ़ने का प्रयास जारी है। माता-पिता का सपोर्ट मेरी ताकत है। मेरी मां को मुझे एक्‍टर के रूप में देखना पसंद था। वह हमेशा मेरे शो में जाती थीं और मेरा उत्‍साह बढ़ातीं। यहीं से अभिनय के प्रति मेरी दीवानगी बढ़ी और लखनऊ में बसा बसाया कारोबार छोड़कर मैंने मुंबई जाने का फैसला कर लिया। 


जन्‍म और शिक्षा

12 सितम्‍बर 1987 को मुनीश कुमार का जन्‍म उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हुआ। उन्होंने 12 वीं तक की शिक्षा लखनऊ के मार्डन स्‍टैण्‍डर्ड स्कूल से ली। इसके बाद नेशनल पीजी कॉलेज से बैचलर ऑफ आर्ट से ग्रेजुएशन किया। लखनऊ के भारतेन्दु नाट्य अकादमी (बीएनए) से एक्टिंग का ककहरा पढ़ा और प्ले के जरिए आ‍त्मविश्वास ग्रहण किया।


परिवार ने बढ़ाया उत्‍साह

हाउस वाइफ माता आशा सिंह और स्‍टेशन मास्‍टर पिता उमेश कुमार सिंह ने हमेशा मुनीश का उत्‍साह बढ़ाया। उनके आशीर्वाद से ही मैं आगे बढ़ रहा हूं।


इश्कजादे व बुलेट राजा ने ‍दिलाया मुकाम

कलाकार मुनीश ने कहा कि प्ले के दौरान ही यशराज बैनर व अर्जुन कपूर की डेब्यू फिल्म इशकजादे व सैफ अली खान की फिल्म बुलेट राजा में महत्वपूर्ण भूमिका ‍निभाने का अवसर मिला। इसके बाद तो करियर परवान चढ़ा, मुम्बई में काम की तलाश में चला गया। पहले तो लगा कि, दो फिल्में कर ली है अब मैं स्टार बन गया हूं लेकिन जब वहां पहुंचा तो होश ठिकाने हो गए।


करना पड़ा स्ट्रगल

अभिनेता मुनीश ने कहा कि, मुम्बई में उनको स्ट्रगल के दौर से गुजरना पड़ा। प्रोड्यूसर व डायरेक्टर के घर का चक्कर लगाता-लगाता थक गया। इसके बाद अच्छे दिन आने शुरू हुए और धारावाहिक अदालत, अशोक, सुहानी सी एक लड़की के जरिए पहचान बनाई। जब वरुण धवन व आलिया भट्ट अभिनीत ‍फिल्म हम्पटी शर्मा की दुलहनियां की चर्चा होने लगे और मेरी इंडस्ट्री में पहचान बन गई तब लगा कि अब बुरे दिन खत्‍म हो गए। यह सब अपनी मेहनत और सकारात्मक सोच के जरिये हुआ। वे कहते हैं कि जो भी कलाकार मुम्‍बई जाते हैं शुरुआत में उनको बहुत सी परेशानियों का सामना तो करना पड़ता है। उसमें से दस प्रतिशत ही लोग कलाकार बन पाते हैं बाकी लोग और अलग-अलग दूसरे कार्य करने लगते हैं।


कास्टिंय काउच से से सावधान

बताते हैं कि कास्‍टिंग काउच तो मुम्‍बई में आम है। फिल्‍म इंडस्‍ट्रीज में नए लड़के लड़कियां कास्‍टिंग काउच का शिकार सबसे ज्‍यादा होते हैं। फिल्‍म इंडस्‍ट्रीज में अपनी पहचान बनाने के लिए फिल्‍मों और सीरियल में काम देने के बहाने से कास्‍टिंग काउच का शिकार होते ही रहते हैं। अरे, जब मैं इसका शिकार होते-होते बचा तो और क्या कहूं। एक बड़ी फिल्म निकल गई, जिसकी तकलीफ नहीं है। इस कारण यह जरूर कह सकता हूं कि नए लड़के व लड़कियां इससे सावधान रहें और अपनी मेहनत और टैलेंट पर भरोसा करें। क्यों‍कि गॉड फादर के जरिए ही किसी का भला होने वाला होता तो सभी अभिनेता बन जाते। बड़े-बड़े सुपरस्टार्स के लड़कों को इंडस्ट्री में आज काम नहीं मिल पा रहा है और वे सब दौड़ से बाहर हैं।


आने वाली फिल्में

कलाकार मुनीश ने बताया कि उनकी दो महत्वपूर्ण फिल्में हैं। एक एस्‍ट्रा ऑर्डिनरी तथा दूसरी ये पिक्चर पाकिस्तान में बैन है। जल्द ही यह दोनों फिल्में प्रदर्शित होंगी।


अक्षय कुमार की तरह इंडस्ट्री में स्थापित होने की चाह

मुनीश ने कहा ‍कि उनकी चाहत‍ सिर्फ इतनी है कि वे अच्छा काम करते रहे। लगन, मेहनत और अपनी प्रतिभा पर भरोसा है। मेरे आदर्श भी अक्षय कुमार हैं जो अपनी प्रतिभा के बल पर आज बहुत ऊंचा मुकाम बना चुके हैं। चाहत है कि उनकी तरह विभिन्न प्रकार के किरदार निभाकर अपनी अलग पहचान बना सकूं, जिससे मन को शांति मिले।

 

Share On

 

अन्य खबरें भी पढ़ें

HTML Comment Box is loading comments...

खबरें आपके काम की

 



 

http://www.bjp.org/upelection2017/?utm_source=risingnews&utm_campaign=RBUP2017&utm_medium=banner&utm_term=fixed

 

Newsletter

Click Sign Up for subscribing Our Newsletter

 



शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें