• अखिलेश ने जारी की 191 उम्‍मीदवारों की सूची, शिवपाल का भी नाम
  • पंजाब चुनाव में होंगे कांग्रेस के 40 स्टार प्रचारक

Share On

Events Lucknow | 10-Jan-2017 07:10:04 PM
“कोई है” में उठी भ्रष्‍टाचार के खिलाफ आवाज

  • बली प्रेक्षागृह में रंगयात्रा नाट्य समारोह की ओर से मंचित नाटक




 

दि राइजिंग न्‍यूज

10 जनवरी, लखनऊ।

मंगलवार को राय उमानाथ बली प्रेक्षागृह में ऐसे नाटक का मंचन हुआ जिसने दर्शकों को भ्रष्टाचार रोकने के साथ साथ हराम का पैसा न कमाने की हिदायत दे डाली। रंगयात्रा नाट्य समारोह में प्रतीक्षा रंगमण्डल ने नाटक कोई है का मंचन किया। प्रदीप तिवारी के लिखी कहानी को विनोद मिश्रा के रूपांतरण और विवेक मिश्रा विष्णु के निर्देशन में पेश किया।



नाटक की कहानी प्रशासन के एक आला अधिकारी मिस्टर सिन्हा और उनकी पत्नी कोमल के इर्द घूमती है। मिस्टर सिन्हा ने भ्रष्टाचार करके पैसे तो खूब कमाये, लेकिन विवाह के कई साल गुजर जाने के बाद भी संतान नहीं पा सके। इस कारण पति पत्नी के बीच झगड़े भी होने लगे। इसी बीच उनको एक ऐसे बाबा के बारे में पता चलता है, जिसके दर पर जाने से खाली हाथ नहीं लौटते। मिस्टर सिन्हा और उनकी पत्नी कोमल एक ठेकेदार के कहने पर उस बाबा के पास जाते हैं और कई बार पूजा करने के बाद भी उन्हें कोई फायदा नहीं होता। दोनों पति पत्नी बाबा से फायदा न मिलने पर बाबा से नाराज होकर उन्हें बुरा भला कहने लगते हैं।



मगर ठेकेदार के कहने पर अंतिम बार बाबा के पास जाते है जहां बाबा कहते हैं कि आज तक उनकी पूजा का असर इसलिए नहीं हुआ क्योंकि पूजा के जिए जो प्रसाद आता है वो भ्रष्ट तरीके से कमाया हुआ है और ठेकेदार के पैसों से आया है। पता लगता है कि पूजा का सारा फायदा ठेकेदार को हो रहा है, यह सुनते ही मिस्टर सिन्हा की आंखे खुल जाती हैं और वो ईमानदारी से काम करने की कसम खा लेते हैं। नाटक का अंत ईमानदारी और किसी का हक न मारने के संदेश के साथ होता है। नाटक में शुभम पाण्डेय, तान्या सूरी, जीतेन्द्र मिश्रा, योगेश, राज शुक्ला, सौम्या और सुषमा ने दमदार अभिनय किया।

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 

 



 

Newsletter

Click Sign Up for subscribing Our Newsletter


   Photo Gallery   (Show All)
रात के अंधेरे में खूबसूरती बिखेरता गोमती रिवर फ्रंंट । फोटो- कुलदीप सिंह
रात के अंधेरे में खूबसूरती बिखेरता गोमती रिवर फ्रंंट । फोटो- कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें