• मुख्तार अंसारी के परोल पर दिल्ली हाई कोर्ट ने लगाई रोक
  • ऑस्कर : ओरिजिनल सांग का अवॉर्ड फिल्म "ला ला लैंड" के "सिटी ऑफ स्टार्स" को
  • वोट डालते ही विनय कटियार बोले- राम मंदिर के बिना बेकार है सब कुछ
  • ऑस्कर : बेस्ट शॉर्ट डॉक्युमेंट्री का अवॉर्ड "द व्हाइट हेलमेट्स" को

Share On

Finance | 9-Jan-2017 12:59:23 PM
14 लाख करोड़ की पुरानी करंसी बैंकों में जमा

  • सरकारी अफसर ने कहा-75 हजार करोड़ रुपये नहीं लौटेंगे
  • पुरानी करंसी के रूप में 50 हजार करोड़ रुपये बैंकों के पास थे


 

 

दि राइजिंग न्‍यूज

09 जनवरी, नई दिल्‍ली।

सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि नोटबंदी के बाद 75000 करोड़ के 500 और 1000 के नोट बैंकिंग सिस्टम में वापस नहीं लौटेंगे। अब तक मिली जानकारी के मुताबिक 14 लाख करोड़ की करंसी बैंकों में जमा की जा चुकी है। जब बड़े नोटों को बंद करने का फैसला लिया गया था, तब सरकार ने अनुमान जताया था कि बाजार में मौजूद कुल करंसी का 20 प्रतिशत हिस्सा यानी करीब तीन लाख करोड़ रुपये वापस नहीं लौटेंगे।

अफसर ने बताया कि यह हमें भी मालूम है कि जब पीएम नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी का फैसला घोषित किया था तो 500 और 1000 की पुरानी करंसी के रूप में 50 हजार करोड़ रुपये बैंकों के पास मौजूद थे। सरकारी अधिकारियों ने दावा किया कि नई करंसी में 10 लाख करोड़ रुपये बैंकों को सप्लाई हो चुके हैं।

नोटबंदी से लोगों को हो रही परेशानी से निजात पाने के लिए सरकार ने आरबीआइ से राय मांगी है कि क्या वह अपने मुद्रा भंडार से 75 हजार करोड़ रुपये जारी कर सकता है या नहीं। लेकिन आरबीआई का कहना है कि स्थिति अगले एक पखवाड़े में सामान्य के करीब पहुंच जाएगी। आरबीआइ ने कहा कि 2-2.5 लाख करोड़ की नई करंसी छापी जा चुकी है और बैंकों तक पहुंच भी गई है।

नोटबंदी से पहले आठ नवंबर को देश में कुल 17.50 लाख करोड़ नोट थे, इसमें 500 और 1000 के नोटों की संख्या 15.50 लाख करोड़ थी, जो कुल करंसी का 88 प्रतिशत थी। फिलहाल बैंकों के पास 500 और 1000 रुपये के करीब 14.50 लाख करोड़ रुपये हैं।

आरबीआइ ने इन नोटों की काउंटिंग भी शुरू कर दी है ताकि नकली करंसी का पता लगाया जा सके। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि आरबीआइ के पास 60 बड़ी मशीनें हैं जो वापस आई करंसी में असली और नकली का फर्क बता सकती हैं।

अधिकारी ने कहा कि अगर यह 60 मशीनें 12 घंटें भी काम करें तब भी इस काम में 600 दिनों का वक्त लग जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार इस प्रक्रिया का विकेंद्रीकरण करने पर भी विचार कर रही है। इसमें बैंकों को भी शामिल करने पर सोचा जा रहा है ताकि काम जल्दी खत्म हो जाए।

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 

 

 

 

 



 

 

Newsletter

Click Sign Up for subscribing Our Newsletter

 


   Photo Gallery   (Show All)
राज भवन, लखनऊ में आयोजित पुष्प प्रदर्शनी में फूलों से बने गणेश भगवान । फोटो - कुलदीप सिंह
राज भवन, लखनऊ में आयोजित पुष्प प्रदर्शनी में फूलों से बने गणेश भगवान । फोटो - कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें