सितंबर, 2021 (अगस्त, 2021 की तुलना में) के महीने के लिए डब्ल्यूपीआई सूचकांक में महीने दर महीना परिवर्तन 0.07 प्रतिशत था।
सितंबर, 2021 (अगस्त, 2021 की तुलना में) के महीने के लिए डब्ल्यूपीआई सूचकांक में महीने दर महीना परिवर्तन 0.07 प्रतिशत था।

दि राइजिंग न्यूज़ : खाद्य वस्तुओं के साथ-साथ प्राथमिक वस्तुओं की कम कीमतों की वजह से क्रमिक आधार पर भारत की सितंबर 2021 की थोक मुद्रास्फीति में कमी आई है।

थोक मूल्यों पर आधारित मुद्रास्फीति की वार्षिक दर पिछले महीने घटकर 10.66 प्रतिशत हो गई, जो अगस्त में 11.39 प्रतिशत थी।

हालांकि, सालाना आधार पर, वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा प्रस्तुत थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई ) डेटा सितंबर 2020 की तुलना में तेजी से बढ़ा है, जब यह 1.32 प्रतिशत था।

मंत्रालय ने अपने बयान में कहा, "सितंबर 2021 में मुद्रास्फीति की उच्च दर मुख्य रूप से पिछले वर्ष इसी महीने की तुलना में खनिज तेलों, मूल धातुओं, गैर-खाद्य वस्तुओं, खाद्य उत्पादों, कच्चे पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, रसायनों और रासायनिक उत्पादों आदि की कीमतों में वृद्धि के कारण है।"

"सितंबर, 2021 (अगस्त, 2021 की तुलना में) के महीने के लिए डब्ल्यूपीआई सूचकांक में महीने दर महीना परिवर्तन 0.07 प्रतिशत था।"

 

Latest News

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

हमारे टेलीग्राम चैनल को तुरंत सब्सक्राइब  Subscribe