लंका मीनार ,  कालपी
लंका मीनार , कालपी

द राइजिंग न्यूज़, जालौन :भारत अपनी संस्कृति के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है। प्राचीन काल से ही यह ऋषि-मुनियों का देश रहा है। यहां पर कुछ ऐसी अद्भुत धार्मिक मान्यताएं हैं, जिन्हें सुनकर लोग हैरान रह जाते हैं। इसी तरह की एक मान्यता उत्तर प्रदेश के जालौन से जुड़ी है। यहां स्थित एक मीनार के बारे में कहा जाता है कि वहां भाई-बहन को एक साथ नहीं जाना चाहिए। अगर सगे भाई-बहन एक साथ जाते हैं तो वह पति-पत्नी जैसे हो जाते हैं।

इस मीनार को लंका मीनार के नाम से जाना जाता है, जो जालौन के कालपी में स्थित है। कालपी की यह मीनार 210 फीट ऊंची है। इसका निर्माण वकील बाबू मथुरा प्रसाद निगम ने कराया था। इस मीनार को बनाने में 20 सालों से ज्यादा का वक़्त लग गया था। यहां भाई-बहन का एक साथ जाना मना है। इसकी वजह मीनार की निर्माण संरचना है।

सगे-भाई बहन का जाना वर्जित
हिंदू धर्म में परम्पराओं को काफी महत्व दिया जाता है, इसीलिए यहां स्थित लंका मीनार में सगे भाई-बहन एक साथ नहीं जा सकते। दरअसल मीनार के ऊपर तक जाने के लिए 7 परिक्रमाओं से होकर गुजरना पड़ता है। इन 7 परिक्रमाओं का सम्बंध पति-पत्नी के सात फेरों से जोड़ा जाता है। कहा जाता है कि अगर सगे भाई-बहन एक साथ मीनार में ऊपर तक जाते हैं तो उन्हें 7 फेरों से गुजरना पड़ेगा और इस वजह से वे पति-पत्नी की तरह हो जाएंगे। यही कारण है कि यहां भाई-बहनों के एक साथ आने पर रोक है।

 

Latest News

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

हमारे टेलीग्राम चैनल को तुरंत सब्सक्राइब  Subscribe